इस खूबसूरत महिला को जलने से भी नहीं होता दर्द, आराम से करती रहती है काम

नई दिल्ली: कहते हैं आग और पानी दो ऐसी चीजें हैं जिससे भूलकर भी मजाक नहीं करना चाहिए। ना जाने कब जान पर बन आए। लेकिन 71 साल की इस महिला के लिए सब खेल जैसा है। ना इन्हें आग से डर लगता है, ना ही पानी से। ये महिला ऐसी है जिसे जलने का भी ऐहसास नहीं होता। इस महिला को तब पता चलता है कि वो जल रही है जब उसके हाथों से बदबू आती है।

साभार-गूगल

वो अकसर ओवन में अपना हाथ जला बैठती है, लेकिन उन्हें दर्द का एहसास नहीं होता। दरअसल, ये बीमारी है। जिसका नाम जेनेटिक म्यूटेशन है। ये बीमारी दुनिया में सिर्फ दो लोगों को है जिन्में से एक कैमरन हैं। ये वो बीमारी है जिसमें इंसान को ना तो दर्द होता है, ना ही जलने का एहसास होता है। बताया जाता है कि 65 साल की उम्र में कैमरन को पता चला कि वह दूसरों से अलग हैं। जब डॉक्टरों ने उनके हाथ की एक सर्जरी की तो उन्होंने पेनकिलर का सुझाव दिया। हालांकि, डॉक्टर यह जानकर हैरान रह गए कि कैमरन को इतने बड़े ऑपरेशन के बाद किसी भी तरह के पेनकिलर की जरूरत नहीं है।

साभार-गूगल

इसके बाद डॉक्टरों ने महिला को जेनेटिक टेस्टिंग के लिए भेज दिया। टेस्ट के बाद पता चला कि कैमरन को अधिकतर लोगों की तरह दर्द महसूस नहीं होता है। वैज्ञानिकों का मानना है कि जीन म्यूटेशन की वजह से कैमरन को दर्द का एहसास नहीं होता है। ये जीन दर्द का सिग्नल भेजने, मूड तय करने और याद्दाश्त को मजबूत बनाने में अहम भूमिका निभाते हैं। इस केस के सामने आने के बाद मेडिकल की दुनिया में क्रोनिक पेन से प्रभावित लोगों के लिए इलाज मिलने की भी संभावना जताई जा रही है।

साभार-गूगल

कैमरने के साथ ऐसी घटना कई बार हो चुकी है जो हैरान करती है। दो साल पहले जब एक वैन ने उन्हें टक्कर मारी तो वह बिल्कुल घबराई नहीं। यहां तक कि वह कांपते हुए ड्राइवर को शांत कराने लगीं। बाद में कैमरन ने खुद को आईं चोट पर ध्यान दिया। कई स्ट्रेस टेस्ट में उनका स्कोर जीरो रहा। कैमरन कहती हैं, मुझे पता था कि मैं खुश रहती हूं लेकिन मुझे कभी यह अंदाजा नहीं लगा कि मैं कुछ अलग हूं। मुझे लगता था कि यह मैं ही हूं। 65 की उम्र में मुझे सच्चाई पता चली।