लोटा-बाल्टी लेकर थाने में घुस गई महिलाएं, SHO को बना लिया शिकार.. पुलिसवालों ने पकड़ लिया अपना सिर

नई दिल्ली: ये भारत देश ही है जो मान्यताओं के आधार पर चलता है। विश्वास या अंधविश्वास दोनों ही यहां के लोगों में कूट-कूटकर भरा है। फिर कोई अपसगुन का अनुमान लगाना हो या फिर बदलते मौसम का। भारतवासी ऐसे हैं जो मौसम विभाग को भी फेल कर देते हैं। इसका ताजा उदाहरण उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर जिले में देखने को मिला है।

सचिन कौशिक के ट्विटर हैंडल से ली गई तस्वीर

जहां की महिलाओं ने एक ऐसी मान्यता को सच साबित करने के लिए यूपी पुलिस को ही ट्राइल का जरिया बना दिया। दरअसल, बारिश को लेकर अलग-अलग समाज में अलग-अलग मान्यताएं हैं। लोग बारिश नहीं होने पर तरह-तरह के ‘जुगाड़’ करने का दावा करते रहे हैं। कई दावे अंधविश्वास पर आधारित होते हैं। लेकिन कई ऐसे भी होते हैं जो वाकई में काम कर जाते हैं। फिर उसे ‘तुक्का’ ही क्यों ना कहा जाए। सोशल मीडिया पर एक ऐसी ही तस्वीर खूब वायरल हो रही है।

वायरल हो रही तस्वीर में महिलाओं का एक समूह पुलिस अफसर को नहला रहा है। दरअसल, ये SHO साहब हैं। एसएचओ को खुद नहीं पता था कि ये महिलाएं क्या करने आईँ हैं। बताया जा रहा है कि महिलाओं ने ऐसा इसलिए किया क्योंकि उन्हें लगता है, इससे बारिश हो जाएगी। ट्विटर पर यूपी पुलिस के ऑफिसर सचिन कौशिक @upcopsachin ने इस फोटो को शेयर किया है।

सचिन कौशिक का ट्विटर अकाउंट

सचिन कौशिक के ट्विटर प्रोफाइल के मुताबिक, वे जीआरपी आगरा के एसपी के पीआरओ हैं। उन्होंने लिखा- जनपद सिद्धार्थनगर, 2015. महिलाओं का एक झुंड लोटा, बाल्टी और जग में पानी लिए थाने में प्रवेश किया। सचिन कौशिक के मुताबिक, थाने वाले अचंभित रह गए। पुलिस वालों की समझ से ये परे था कि माजरा क्या है? तभी एक महिला बोली- साहब, वर्षा नहीं हो रही, यहां मान्यता है कि इलाके के राजा को नहलाया जाए तो वर्षा हो जाती है।

फोटो में दिखता है कि पुलिस अफसर चुपचाप बैठ गए हैं और महिलाएं उन्हें पानी से नहला रही हैं। शेयर किए जाने के बाद ये फोटो ट्विटर पर वायरल हो रही है। इस पर कई लोगों ने दिलचस्प प्रतिक्रियाएं दी हैं। ये हैरान करने वाला पहला मामला नहीं है ऐसे कई मामले भारत के हर कोनो में आपको देखने को मिलेंगे, वो भी बड़ी आसानी से। अब ये विश्वास है या अंधविश्वास इसका बेहतर जवाब तो SHO साहब ही दे सकेंगे।