विश्व रेडक्रॉस दिवस: मददगारों के लिए मसीहा साबित होती है ये संस्था, युद्ध हो या आपदा तत्पर होती है हाजिर

नई दिल्ली: रेडक्रॉस… एक ऐसा गैर सरकारी संगठन जो दुनिया भर में पीड़ितों की सहायता करने के लिए हमेशा तैयार रहता है। दुनिया के किसी भी कोने में कोई भी प्राकृतिक आपदा हो या किसी भी तरह का सैनिक युद्ध.. रेड क्रॉस हर वक्त घायलों की मदद के लिए तत्पर रहती है।..वो भी बिना भेदभाव के।

Source-Google

रेडक्रॉस के संस्थापक जीन हेनरी डयूनेंट थे्। हर साल 8 मई को विश्व रेडक्रॉस डे मनाया जाता है। इसकी स्थापना के पीछे भी बड़ी दिलचस्प कहानी है। कहा जाता है कि जीन युद्ध में घायल सैनिकों की दशा देखकर दुखी हो गए थे। जिसके बाद उन्होंने 9 फरवरी 1863 को जेनेवा में 5 लोगों की एक कमेटी बनाई जिसको ‘इंटरनेशनल कमेटी फॉर रिलीफ टू द उन्डेड’ नाम दिया गया।

Source-Google

इस संगठन की पहचान सफेद पट्टी में लाल रंग के क्रॉस के साथ चिन्ह को मान्यता दी गई है। आज यह चिन्ह पूरी दुनिया में मानवता की सेवा करने का प्रतीक बन गया है। अगर विश्व के तरकरीबन 200 देश किसी एक विचार पर सहमत हैं तो वो हैं रेडक्रॉस के विचार। युद्ध के दौरान घायल सैनिकों की चिकित्सा के साथ प्रकृति के महाविनाश के बीच फंसे लोगों की मदद के लिए रेडक्रॉस हमेशा डटा रहता है।

जीन हेनरी डयूनेंट के जन्मदिन पर ही रेडक्रॉस डे मनाया जाता है। मौजूदा समय पर वर्तमान में विश्व के 186 देशों में रेडक्रॉस सोसायटी काम कर रही है। जीन हेनरी डयूनेंट को मानव सेवा के लिए नोबेल शांति पुरस्कार भी मिला। साल 1994 में रेडक्रॉस एक्ट में संसोधन किया गया। जिसमें पदेन अध्यक्ष महामहिम राष्ट्रपति और सचिव केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को बनाया गया।

क्या है रेडक्रॉस संस्था

  • इंटरनेशनल कमिटी रेड क्रॉस नाम की इस संस्था का काम युद्ध या आपदा में जख्मी लोगों की मदद करना है। यह उन कानूनों को प्रोत्साहित करती है जिससे युद्ध पीड़ितों की सुरक्षा होती है।
  • आपको बता दें यह संस्था लोगों को स्वास्थ के प्रति जागरूक रखने में भी मदद करती है। रेडक्रॉस का मुख्यालय जिनीवा स्विटजरलैंड में है। रेड क्रॉस संस्था ने पहली बार प्रथम विश्व युद्ध और द्वतीय विश्व युद्ध में अपनी सराहनिए भूमिका निभाई थी।
  • इसमें इस संस्था ने जख्मी जवानों और अस्हाय लोगों की मदद की थी। इन सब कार्यों के कारण ही 1917 में इस संस्‍था को नोबेल शांति पुरस्‍कार दिया गाया था।
  • रेड क्रॉस संस्था ने हाल ही में भारत और बांग्लादेश में आये ‘फोनी’ चक्रवात के दौरान पीड़ित लोगो की मदद की थी। रेडक्रॉस संस्था ने बीते 150 सालों में कई प्रमुख कार्य किए है। अब इस संस्था से देश भर में लाखों लोग जुड़ चुके है।

क्या है रेडक्रॉस संस्था का उद्देश्य और इसकी थीम

रेड क्रॉस डे को मनाने का उद्देश्य लोगों मे एकता , मानवता, स्वतंत्रता, निष्पक्षता, सार्वभौमिकता और स्वैच्छिकता के सिद्धांतों को आगे बढ़ाना है। इस संस्था का मुख्य काम युद्ध या आपदा के दौरान जख्मी जवानों, लोगों की मदद और उन्हें स्वस्थय सेवा प्रदान करना है। रेड क्रॉस आंदोलन को ज्यादा से ज्यादा देशों में फैलाना है और लोगों को इसके प्रति जागरूक करना है।

Source-Google

2019 रेडक्रॉस की थीम

रेडक्रॉस डे को हर साल बड़े ही रोचक तरीके से मनाया जाता है। इस साल भी इसे एक नए थीम के साथ मनाया जा रहा है। रेडक्रॉस डे को थीम के साथ मनाने का उद्द्श्य, लोगों इसके प्रति जागरूक फैलाना है। इस साल रेडक्रॉस का थीम लव है लव यानी प्रेम और प्रेम का रंग लाल होता है। इसलिए इस खास मौके पर रक्त दान शिविर का आयोजन का किया जाता है।