9 मई: इन वजहों से याद किया जाता है आज का दिन, जानें इतिहास के पन्नों में क्या छिपा है
स्पेशल स्टोरी

9 मई: इन वजहों से याद किया जाता है आज का दिन, जानें इतिहास के पन्नों में क्या छिपा है

नई दिल्ली: हर तारीख की अलग पहचान है। साल का हर दिन अपने आप में बहुत कुछ संजोय हुए है, हमारे इतिहास में हर दिन का अपना अलग ही महत्व है। लोग अब तारीख को बड़े इवेंट, घटनाक्रम से जोड़कर देखती है। या यूं कहें उस इवेंट की याद से ही तारीख को याद किया जाता है।

यूं तो हर तारीख में कुछ ना कुछ ऐसा बड़ा हुआ है। जिसे आजतक कोई नहीं भूला है और तेजी से भागती इस टेक्नोलॉजी ने भूलने का मौका ही नहीं दिया है। आज 9 मई है यानी साल के 5वें महीने की 9वीं तारीख। आज की तारीख इतिहास से कैसे जुड़ी है ? इस बारे में ना तो कोई आपको डीटेल में बताएगा और ना ही गूगल में आपको स्पष्ट जानकारी मिल पाएगी। इसलिए हमने सोचा क्यों ना आज की तारीख का महत्व आपको बताया जाए।

देश और दुनिया के इतिहास में आज का दिन कई कारणों से जाना जाता है।

  • सन 1540 में आज ही के दिन चितौड़ के सम्राट उदय सिंह के बेटे शूरवीर महाराणा प्रताप का जन्म हुआ था। मुगल सम्राट अकबर के
  • साथ संघर्ष करने वाले महाराणा प्रताप का नाम भारत के इतिहास के पन्नों में स्वर्णिम अक्षरों में अंकित है।
  • सन 1866 में आज ही के दिन स्वतंत्रता सेनानी, समाजसेवी, विचारक, सुधारक एवं गांधी जी के राजनैतिक गुरु गोपाल कृष्ण गोखले का
  • जन्म हुआ था।
  • सन 1945 में आज के दिन ही रुस को नाज़ी शक्तियों से मुक्ति मिली थी। तब से आज तक रुस में 9 मई की तारीख को Victory Day
  • के रुप में मनाया जाता है।
  • साल 1947 में आज के दिन ही विश्व बैंक ने अपना पहला ऋण फ्रांस को दिया था।
  • साल 2000 में आज के दिन ही जाफना प्रायद्वीप के एलिफेंट दर्रे पर कब्जे के लिए लिट्टे से हुए संघर्ष में श्रीलंका के 358 सैनिक मारे गए
  • थे।
  • 9 मई, साल 2004 में आज ही के दिन ही चेचेन्या में एक विस्फोट में वहां के राष्ट्रपति अखमद कादरोव का निधन हुआ था।
  • साल 2008 में आज के दिन ही अमेरिका ने पाकिस्तान को 8.1 करोड़ डॉलर की सैन्य सहायता देने से मना कर दिया था।
  • 2010 में आज के दिन ही भारत की वंदना शिवा को महिला सशक्तिकरण और पर्यावरण संरक्षण के लिए सिडनी शांति पुरस्कार के लिए
  • चुना गया।
9 May, 2019

About Author

[email protected]