जानिए क्या हैं श्राद्ध : कैसे करें पूर्वजों की आत्मा को शांत
श्रद्धा के भाव

जानिए क्या हैं श्राद्ध : कैसे करें पूर्वजों की आत्मा को शांत

हिंदू धर्म के अनुसार हम किसी भी शुभ कार्य में सबसे पहले अपने बड़ों को शामिल करते हैं। हमेशा ही हम उनका आदर सत्कार करते हैं। हिंदू धर्म में माता पिता और पूर्वजों को भगवान का रूप माना जाता हैं। कहा जाता है कि हमारे पूर्वज हमारी रक्षा करते हैं और हमारे सुख दुख में उनकी आत्माएं हमारा साथ देती हैं।

source-google

कैसे शांत करें पितरों की आत्मा

हिंदू धर्म के अनुसार श्राद पूर्वजों की भटकती आत्माओं को शांत करने के लिए किये जातें हैं। श्रादों में कोई भी अनजाने में हुई भूल चूक की पूर्वजों से शमा मांगी जाती है। श्राद में अपने पूर्वजों के लिए पूजा पाठ की जाती हैं। अपने पितरों के लिए सभी अलग अलग की विधि विधान करते हैं । पितरों के लिए वस्त्र, भोजन, पिंडदान,और उनका पसंदीदा समान दान में दिया जाता है। जो शास्त्रों के अनुसार पितरों को ही लगता है। श्राद्ध के समय पितरों के लिए अनुष्ठान करने से पित्र हम पर अपनी कृपा बनाए रखते है।

source-google

जानिए : श्राद्ध से जुड़ी तारीख़े

  • 13 सितंबर- पूर्णिमा श्राद्ध
  • 14 सितंबर- प्रतिपदा
  • 15 सितंबर-  द्वितीया
  • 16 सितंबर- तृतीया
  • 17 सितंबर- चतुर्थी
  • 18 सितंबर- पंचमी
  • 19 सितंबर- षष्ठी
  • 20 सितंबर- सप्तमी
  • 21 सितंबर- अष्टमी
  • 22 सितंबर- नवमी
  • 23 सितंबर- दशमी
  • 24 सितंबर- एकादशी
  • 25 सितंबर- द्वादशी
  • 26 सितंबर- त्रयोदशी
  • 27 सितंबर- चतुर्दशी
  •  28 सितंबर- सर्वपित्र अमावस्या
source-google
13 September, 2019

About Author

Heena 08