Sabarimala Case: सुप्रीम कोर्ट ने दिया फैसला, मस्जिद पर भी उठे सवाल !
देश

Sabarimala Case: सुप्रीम कोर्ट ने दिया फैसला, मस्जिद पर भी उठे सवाल !

Sabarimala Case: साल 1990 में सबरीमाला मंदिर का मामला सामने आया था। जिसमें 10 से 50 वर्ष की महिलाओं के मंदिर में प्रवेश पर पाबंदी को लेकर सवाल उठाया गया था। तब से इस मामले में कोर्ट के दरवाजे खटखटाएं जा रहे हैं। पिछले साल 28 सितंबर 2018 को इस मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court verdict) ने अपना फैसला दिया था, जिसमें कोर्ट ने महिलाओं को मंदिर के अंदर जाने की अनुमति दी थी। जिसके बाद जनवरी 2019 में दो महिलाओं ने मंदिर के अंदर कदम रख दिए थे। जिसके बाद पूरे मंदिर का शुद्धीकरण किया गया। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट में एक और याचिका (Sabarimala Temple review petitions) को दायर किया गया। जिस पर आज सुप्रीम कोर्ट ने अपना एक और फैसला सुनाया है।

Source-google

मस्जिद में महिलाओं के प्रवेश पर उठा सवाल

Sabarimala Temple पर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए मस्जिद (Mosques and parsi temple) में महिलाओं के प्रवेश को लेकर सवाल उठाया है। जिसके बाद साफ है कि अब महिलाओं के मस्जिद में प्रवेश करने पर भी बहस होगी। सुप्रीम कोर्ट ने सबरीमाला मंदिर रिव्यू याचिका पर चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया, रंजन गोगोई (CJI Ranjan Gogoi) ने कहा कि “महिलाओं के पूजा स्थलों में प्रवेश केवल इस मंदिर तक सीमित नहीं है। ये मस्जिदों में महिलाओं के प्रवेश का भी मामला है।”

Source-ani

7 जजों की पीठ करेगी फैसला

Sabarimala Case: सुप्रीम कोर्ट ने सबरीमाला मंदिर पर फैसला सुनाते हुए, इस मामले को बड़ी पीठ वाले जजों यानी के अब इस मामले की सुनवाई 7 जजों की पीठ को रैफर किया है। ताकि इस मामले में सभी महिलाओं को न्याय मिल सके। और सुप्रीम कोर्ट के 2018 वाले फैसले पर अच्छे से रिव्यू किया जा सके। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने 3:2 के बहुमत से समीक्षा याचिकाओं को एक बड़ी संविधान पीठ को रैफर किया है। न्यायमूर्ति रोहिंटन फली नरीमन और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ (Justice Rohinton Fali Nariman and Justice DY Chandrachud) ने आपत्ति जताई है। हालांकि अभी भी सुप्रीम कोर्ट ने अपने पुराने फैसले को बरकरार रखा है।

Source-ani
14 November, 2019

About Author

Ashish Jain