Rajasthan International Folk Festival 2019: जानिए कार्यक्रम का समय और आकर्षण के केंद्र
देश, लाइफस्टाइल

Rajasthan International Folk Festival 2019: जानिए कार्यक्रम का समय और आकर्षण के केंद्र

Rajasthan International Folk Festival 2019: लोक कलाकारों ने लोक गीतों की परंपरा को आज भी जीवित रखा है। 60-70 साल पहले लिखे गए इन गीतों को गाने वाले लोग तो हैं लेकिन इन्हें लिखने वाला कोई नहीं है। रिफ-2019 में इस बार इसी पर होगी चर्चा। कवियों के सहयोग से लोक कलाकार लोक गीत लिखेंगे, जो रिफ के 12 संस्करणों के इतिहास में पहली बार होगा। इस इंटरनेशनल फॉक फेस्टिवल(Rajasthan International Folk Festival 2019) की वजह से बहुत सारे विदेशी भारत घूमने आते है जिस वजह से भारत के पर्यटन में भी काम मिलता है। इस उत्सव Riff Jodhpur 2019 का स्वागत नृत्य के साथ होता है और इसके बाद कई अन्य प्रदर्शन होते हैं।

source-google

RIFF इस बार 10 से 14 अक्टूबर तक

राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय लोककला महोत्सव (Riff Jodhpur 2019) की शुरुवात होने वाली है। यह रंगारंग कार्यक्रम (Rajasthan International Folk Festival 2019) 10 से 14 अक्टूबर तक मेहरानगढ़ के किले, जोधपुर में होगा। पांच दिवसीय उत्सव को यूनेस्को द्वारा मेहरानगढ़ मेहरानगढ म्यूजियम ट्रस्ट और जयपुर विरासत फाउंडेशन की साझा मेजबानी में हर साल आयोजित किए जाने वाले राजस्थान इंटरनेशनल फॉक फेस्टिवल ( Riff Jodhpur 2019) के 12वें संस्करण का आगाज 10 अक्टूबर से होगा। इस कार्यक्रम में देश-विदेश के 250 कलाकार हिस्सा लेंते है और भारतीय और अंतराष्ट्रीय संगीत का मेल प्रस्तुत करते है। राजस्थान अंतर्राष्ट्रीय लोककला महोत्सव ( Riff Jodhpur 2019 ) विश्व की लोक कलाओं और संस्कृति में टॉप टेन में आती है।

source-google

राजस्थानी इंटरनेशनल फॉक फेस्टिवल की शुरुवात

लोक कलाकारों ने लोक गीतों की परंपरा को आज भी जीवित रखा है।इस अंतर्राष्ट्रीय महोत्सव का उद्देश्य फोक संगीत और भारत की सांस्कृतिक को देश-विदेशों तक पहुंचाना है। इस महोत्सव को पहली बार 2007 में मेहरानगढ़ संग्रहालय ट्रस्ट और जयपुर विराट फाउंडेशन के बीच एक गैर-लाभकारी साझेदारी के रूप में आयोजित किया गया था। यह त्यौहार हर वर्ष की शरद पूर्णिमा के मिलान पर होता है। महोत्सव के मुख्य संरक्षण महाराजा गज सिंह है।

source-google

इस बार के राजस्थानी इंटरनेशनल फॉक फेस्टिवल के आकर्षण के केंद्र

  •  इस बार इस महोत्सव में भाग लेने वाले विभिन्न कलाकारों में कुछ के नाम सामने आये है जैसे कि  लाखा खान मांगनियार, कादर खान लंगड़ा (सिंधी
    सारंगी और गायक), पेम्पा मंगनियार (शहनाई और मुरली) और सावन खान मंगनियार।
  • इसके अलावा जयतीर्थ मेवुंडी एक कर्नाटक और महाराष्ट्र की संगीत परंपराओं संतवाणी और दासवानी में मास्टर है। सोंदोरगो एक सोंडर्गो हंगरी बैंड है। ये बैंड कुल 17 वाद्ययंत्रो और शेलियो से खेलते है।
  • बैंड कुल 17 वाद्ययंत्रो और शेलियो से खेलते है।
  • डेवी सिसिल जो की फ्रांस से है वे भी अपना संगीत पुनर्मिलन और गुलामी पर संगीत पेश करेंगे।
  • रोबर्स्ट जो की ऑस्ट्रेलिया के सबसे लोकप्रिय और निपुण पर्क्यूसिस्टों में से एक है वह पहली बार इस त्यौहार पर राजस्थानी मास्टर पर्क्युसिनिस्टों से
      मिलेंगे।  
  • मारू तरंग एक ऑस्ट्रेलियाई-राजस्थानी संगीत है जिसमें जेफ़ लैंग और ऑस्ट्रेलिया के बॉबी सिंह और राजस्थान के असिन लंगा और भुंगार मंगणियार
      शामिल हैं।
  • बिक्सीगा 70 ब्राजील का सबसे लोकप्रिय और समकालीन वाद्य संगीत है। यह एक ऐसी ध्वनि उत्पन करते है जिसमें अफ्रीकी और ब्राज़ीलियन प्रभाव के
    साथ सांबा और रेगे भी शामिल है।
source-google

कार्यक्रम का समय

यह फेस्टिवल 10 अक्टूबर से 14 अक्टूबर तक होना है जिसका समय कुछ इस प्रकार है।

  • 10th October – 9 am to 2 pm and, 8:30 pm to 10 pm
  • 11th October – 5:30 am से 7:30 am और 10 am to 5 pm and, 8:30 pm से आधी रात तक
  • 12th October – 5:30 am से 7:30 am और 10 am to 5 pm and, 8:30 pm से आधी रात तक
  • 13th October – 5:30 am से 7:30 am
  • 14th October – 5:30 am से 7:30 am
source-google

इस कार्यक्रम के लिए देश विदेशो से सैलानी1 हफ्ते पहले ही जोधपुर आ जाते है और यही रहते है। यह तक की इस राजस्थानी इंटरनेशनल फॉक फेस्टिवल के कारण ने जोधपुर रिफ (https://www.jodhpurriff.org/) नामक वेबसाइट ही बना रखी है। जिससे की आप सारे प्रोग्राम को डाउनलोड कर सकते है और सारी जानकारी भी पढ़ सकते है।

source-google
11 October, 2019

About Author

Ashish Jain