महाराष्ट्र: किसकी सत्ता, किसकी कुर्सी, कैसी है ये हलचल
देश, राजनीति

महाराष्ट्र: किसकी सत्ता, किसकी कुर्सी, कैसी है ये हलचल

हाल ही में महाराष्ट्र विधानसभा के चुनाव हुए, चुनाव के नतीजे भी आए। बीजेपी ने लीड किया। लेकिन सरकार बनाने में नाकाम रही… वहीं इस समय महाराष्ट्र में राजनीति हलचल बढ़ी हुई है। हर पार्टी सरकार का गठन करने के लिए एक-दूसरे से मुलाकात और पार्टी की बैठक करने में लगी हुई है। जिसके चलते बीजेपी के सीएम पद पर काबीज देवेंद्र फडणवीस ने पिछले हफ्ते सीएम पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने ये इस्तीफा महाराष्ट्र के राज्यपाल को सौंपा है। जिसके बाद आज बीजेपी ने मुंबई में स्थित देवेंद्र फडणवीस के आवास पर बीजेपी की एक बैठक को बुलाया है। साथ ही कयास लगाए जा रहे हैं कि बीजेपी इस बैठक में शिवसेना को लेकर चर्चा कर सकती है।

Source-ani

कांग्रेस ने बुलाई बैठक

बीजेपी के विपक्षी पार्टियों में से सबसे ज्यादा मजबूद पार्टी कांग्रेस हैं। बीजेपी को अगर कोई पार्टी टक्कर दे रही है तो वो कांग्रेस है। हालांकि कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में सीटें तो ज्यादा नहीं निकाली, लेकिन अटकले लगाए जा रहे हैं कांग्रेस पार्टी शिवसेना के साथ मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बनाने का दावा भर सकती है। ऐसे में आज कांग्रेस ने कांग्रेस कार्य समिति (CWC) की बैठक बुलाई है। ये बैठक दिल्ली में कांग्रेस अंतिरम अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास की जाएगी।

Source-ani

NCP ने बैठक

महाराष्ट्र में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) ने भी पार्टी की कोर ग्रुप मीटिंग की है। मुंबई में हुई बैठक की अध्यक्षता पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने की। बैठक में राज्य में मौजूदा राजनीतिक स्थिति को लेकर की गई। जिसमें प्रफुल्ल पटेल, सुप्रिया सुले, अजीत पवार, जयंत पाटिल और पार्टी के अन्य नेता मौजूद रहेंगे।

Source-ani

गेम चेंजर के रुप में उभरी शिवसेना

साल 2019 के विधानसभा चुनाव में शिवसेना महाराष्ट्र में एक तीसरे विकल्प के रुप में उभरी है। हाला ही शिवसेना ने चुनाव के दौरान बीजेपी के साथ गठबंधन किया था लेकिन मतगणना का परीणाम आने के बाद शिवसेना ने बीजेपी से अपना गठबंधन तौड़ दिया। वहीं बीजेपी का कहना है कि अभी तक गंठबधन को लेकर दोनो पार्टियों के बीच कोई बातचीत नहीं की गई है। ऐसे में शिवसेना के नेता संजय राउत ने कहा कि “ये बीजेपी का अहंकार है कि वे महाराष्ट्र में सरकार बनाने से इनकार कर रहे हैं। ये महाराष्ट्र के लोगों का अपमान है। वे विपक्ष में बैठने के लिए तैयार हैं, लेकिन वे 50-50 फार्मूले के लिए तैयार नहीं है। जिसके लिए वे चुनाव से पहले सहमत थे।”

Source-ani
11 November, 2019

About Author

Ashish Jain