जानिए यासीन मलिक का आंतकी फंड मामला !
देश, राजनीति

जानिए यासीन मलिक का आंतकी फंड मामला !

यासीन मलिक जम्मू-कश्मीर के अलगाववादी नेता है और पूर्व आतंकवादी जो भारत और पाकिस्तान दोनों से कश्मीर के अलग होने की वकालत करते हैं। यासीन मलिक ने ताल पार्टी नामक एक पार्टी का गठन किया जिसने की क्रांतिकारी मोर्चा बनाया। 1986 में यासीन ने मलाला के साथ मिलकर महासचिव के रूप में ताल पार्टी का नाम बदलकर इस्लामिक स्टूडेंट्स लीग (आईएसएल) कर दिया गया। वहीं यासीन मलिक 2017 के आतंकी फंडिंग मामले में आज दिल्ली के कोर्ट में पेश हुए।

source-ani

यासीन मालिक का टेरर फंडिंग मामला

यासीन मालिक के खिलाफ 2017 में टेरर फंडिंग की पहली चार्जशीट साल 2017 में दाखिल की गई थी, उसमें घाटी में हिंसा और आतंकी गतिविधियों के लिए अलगाववादियों को पाक दूतावास से फंडिंग मिलने का जिक्र था। जिससे ये पता चलता है कि घाटी में हिंसा, पत्थरबाजी और आतंकी गतिविधियों के लिए यासीन मलिक ज़िम्मेदार है।

source-google

टेरर फंडिंग चार्जशीट

  • राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने यासीन मालिक, शबीर शाह, आसिया अंद्राबी और मसरत आलम के ऊपर 2017 आतंकवादी फंडिंग मामले में आरोप पत्र दर्ज किया है। ये दूसरी चार्जशीट है जिसे फंडिंग मामले में दर्ज किया गया है।
source-ani
  • आरोप पत्र में एनआईए ने नए दस्तावेज और उपरोक्त लोगों के खिलाफ ताजा सामग्री सोशल मीडिया साक्ष्य, कॉल रिकॉर्ड, मौखिक डिजिटल सबूत पेश किए हैं। एनआईए सबूतों ने सीमा पार से आरोपी हाफिज सईद और सैयद सलाउद्दीन के संबंध में आरोप लगाए गए व्यक्तियों के संबंध का पता चलता है।
source-google
  • इस मामले में JUD प्रमुख हाफिज सईद और पूर्व विधायक शेख अब्दुल रशीद को भी 2008 के आतंकी हमले का मास्टरमाइंड होने की वज़ह से उन पर चार्जशीट दाखिल की गई है।
source-ani
  • राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने अलगाववादी के नेता यासीन मालिक जो की आतंकवादी फंडिंग 2017 के न्यायिक हिरासत को बढ़ाकर 23 अक्टूबर तक कर दिया गया है।
source-google

फिलहाल इस मामले में यासीन मालिक को 23 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में रखा जायेगा और जितने भी सबूत NIA को मिले है उन सब न्यायालय में भी दिखाया जाएगा। 

source-google
4 October, 2019

About Author

Ashish Jain