अयोध्या मामला: तर्क सही से पेश नहीं किए गए तो उठ सकती है जज की पीठ-CJI Ranjan Gogoi
उत्तर प्रदेश, देश, ब्रेकिंग

अयोध्या मामला: तर्क सही से पेश नहीं किए गए तो उठ सकती है जज की पीठ-CJI Ranjan Gogoi

आज बहुत ही अहम दिन है, आज रामजन्मभूमि (ayodhya mandir) और बाबरी मस्जिद (babri masjid) केस पर आखिरी बहस होनी है। इस विवाद की सुनवाई के अंतिम दौर में पहुंचते-पहुंचते अयोध्या में भी सुगबुगाहट तेज हो गई है। अयोध्या में किसी भी तरह का कोई विवाद न हो इसलिए पूरे अयोध्या जिले में धारा 144 लगा दी गई है। ये धारा 10 दिसंबर तक अयोध्या जिले में लगी रहेगी। अयोध्या में संतों का आना भी शुरू हो गया है और माहौल न बिगड़े इसलिए सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया है।

source-google

17 अक्टूबर को क्या होगा

इस बहस का आज 40वा दिन है। पहले इस फैसले का आख़िरी दिन 17 अक्टूबर रखा गया था लेकिन बाद में इस बहस का आख़िरी दिन 16 अक्टूबर कर दिया गया। 17 अक्टूबर को ‘मोल्डिंग ऑफ रिलीफ’ ( Molding of relief ) के लिए रिजर्व रखा गया है, इस दौरान दोनों पक्षकार अपनी मांग सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) के सामने रखेंगे।

source-google

कौन रखेगा दलील

सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) में आज हिंदू पक्ष की ओर से निर्मोही अखाड़ा (Nirmohi Arena) के वकील अपनी अंतिम दलील देंगे। बुधवार को हिंदू पक्ष के वकील सीएस. वैद्यनाथन (Cs Vaidyanathan) को बहस के लिए 45 मिनट मिलेंगे, इसके अलावा हिंदू पक्षकारों के अन्य वकीलों को भी इतना ही समय मिलेगा। बाद में मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन (
Rajiv Dhawan ) को जवाब देने के लिए 1 घंटे का समय मिलेगा। जिस पर अखिल भारतीय हिंदू महासभा के वकील का कहना है, कोर्ट में बहुत सम्मान के साथ, मैंने कोर्ट की शोभा को भंग नहीं किया है।

source-google

केस का फैसला जल्द

कई सालों से चल रहा अयोध्या का रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद (Ayodhya Mandir-Babri Masjid) अब अपने अंतिम दौर में है। सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को इस विवाद पर आखिरी बहस होनी है, आज दोनों ही पक्षों की ओर से अंतिम दलीलें रखी जाएंगी। मंगलवार को चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ( Chief Justice Ranjan Gogoi) ने ऐसे संकेत दिए थे कि 16 अक्टूबर को सुनवाई खत्म हो जाएगी। इस केस का फैसला जल्द ही आ जाएगा। मामले की सुनवाई 18 अक्तूबर तक पूरी होनी जरुरी है, क्योंकि इसके बाद चार हफ्ते फैसला देना है। वहीं CJI रंजन गोगोई अयोध्या में राम मंदिर-बाबरी मस्जिद भूमि मामले में अखिल भारतीय हिंदू महासभा के वकील द्वारा प्रस्तुत किए गए फैसले के बाद कहा कि अगर इस तरह के तर्क चल रहे हैं, तो हम अभी उठ सकते हैं और बाहर निकल सकते हैं।

source-google

क्या है मामला

अयोध्या विवाद एक राजनीतिक, ऐतिहासिक और सामाजिक-धार्मिक विवाद है जो नब्बे के दशक में सबसे ज्यादा उभार पर था। इस विवाद का मूल मुद्दा राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद की स्थिति को लेकर है। विवाद इस बात को लेकर है कि क्या हिंदू मंदिर को ध्वस्त कर वहां मस्जिद बनाया गया या मंदिर को मस्जिद के रूप में बदल दिया गया।

source-google
16 October, 2019

About Author

Ashish Jain