हाशिमपुरा में नरसंहार करने वाले 4 दोषी जवानों ने किया सरेंडर, 11 के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी
दिल्ली-एनसीआर, देश, ब्रेकिंग

हाशिमपुरा में नरसंहार करने वाले 4 दोषी जवानों ने किया सरेंडर, 11 के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी

नई दिल्ली: मेरठ के हाशिमपुरा नरसंहार मामले में फिलहाल 4 दोषियों ने तीस हजारी कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। बता दें, 31 अक्टूबर को दिल्ली हाईकोर्ट द्वारा सजा पाने वाले 15 पीएसी जवानों में सिर्फ 4 ही दिल्ली की कोर्ट में सरेंडर करने पहुंचे, जबकि 11 के बारे में कोई सूचना नहीं है। वहीं कोर्ट ने बाकी आरोपी जवानों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक, नीरज ला, महेश, समी उल्लाह और जयपाल ने ही दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में सरेंडर किया। जबकि 11 दोषी अब तक कोर्ट नहीं पहुंचे हैं। साल 1987 में हुए हाशिमपुरा केस में आरोपी UPPAC के 15 में से 4 जवानों ने कोर्ट के सामने सरेंडर कर दिया है। कोर्ट ने सभी 4 जवानों को तिहाड़ जेल भेज दिया है।

 

बता दें, दिल्ली हाई कोर्ट ने यूपी के 15 रिटायर्ड और कार्यरत पीएसी जवानों को दोषी ठहराते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई थी। इन सभी पीएसी के जवानों पर मेरठ के हाशिमपुरा में रहने वाले 41 लोगों की हत्या करने का आरोप है। साथ ही 19 लोगों पर हाशिमपुरा नरसंहार का आरोप लगाया गया था। अब सिर्फ 15 लोग ही जिंदा बचे हैं।

हाशिमपुरा नरसंहारः उम्रकैद की सजा पाए PAC के 16 में से सिर्फ 4 जवान पहुंचे सरेंडर करने
साभार-गूगल

सजा पाने वाले एक शख्स का कहना है कि हमें अभी भी कोर्ट पर पूरा भरोसा है। इसी के चलते हम दिल्ली हाईकोर्ट का फैसला आने के बाद अब सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दाखिल कर रहे हैं। अभी बहुत सारी चीज ऐसी हैं जो इस केस में छूट रही हैं। हम सभी 15 लोग वकीलों के संपर्क में हैं। दो लोगों की उम्र इस वक्त 70 से अधिक हैं तो बाकी सभी 68 वर्ष से भी कम उम्र के हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने केस दिल्ली ट्रांसफर किया था
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मामले को 2002 में दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में ट्रांसफर किया गया। वर्ष 2006 में आरोप तय हुए। अभियोजन पक्ष की ओर से 91 लोगों की गवाही हुई। फैसले में एडिशनल सेशन जज संजय जिंदल ने कहा कि यह बहुत तकलीफदेह है कि कुछ निर्दोष लोगों को इतनी यंत्रणा झेलनी पड़ी और एक सरकारी एजेंसी ने उनकी जान ली।

22 November, 2018

About Author

[email protected]