मां का निधन होने के बाद भी मैदान पर उतरा वेस्ट इंडीज का ये खिलाड़ी, क्रिकेट जगत ने किया सलाम

0
44
साभार: Google

नई दिल्ली। वेस्टइंडीज और इंग्लैंड के बीच खेले जा गए दूसरे टेस्ट मुकाबले में वेस्ट इंडीज के खिलाड़ी का अपने खेल के प्रति अद्भुत जज्बा देखने को मिला। अपनी मां के निधन की खबर मिलने के बाद भी इस खिलाड़ी ने मैच बीच में नहीं छोड़ा। युवा क्रिकेटर अल्जारी जोसेफ हाल ही में वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम का हिस्सा बने हैं। इंग्लैंड के साथ खेले जा रहे इस मुकाबले में मैच नाजुक मोड़ पर पहुंच चुका था। वेस्ट इंडीज की आधी से ज्यादा टीम पैवेलियन लौट चुकी थी और जोसेफ ड्रेसिंग रूम में पैड पहनकर अपनी बल्लेबाजी का इंतजार कर रहे थे। तभी उन्हें खबर मिली की उनकी मां का निधन हो गया।

मैच नाजुक मोड़ पर था और जोसेफ का कोई भी फैसला नतीजे को प्रभावित कर सकता था। ऐसे में 22 साल के जोसेफ ने नाजुक घड़ी में देश के लिए खेलते रहने का निर्णय लिया। यह जोसेफ के जीवन का सबसे कठिन फैसला था। जोसेफ खबर मिलने के करीब आधे घंटे बाद 10वें नंबर पर बैटिंग करने उतरे।
जोसेफ 20 गेंदों का सामना कर सात रन बनाए और अपनी टीम को 119 रन की लीड लेने में मदद की। अपना आठवां टेस्ट खेल रहे जोसेफ ने इसके बाद गेंदबाजी भी की। उन्होंने इंग्लैंड की दूसरी पारी में सात ओवर का स्पेल किया और दो विकेट झटके। उन्होंने पहली पारी में भी दो विकेट लिए थे।

मैच के बीच जोसेफ की मां के निधन की दुखद खबर मिलने के बाद दोनों टीमों के खिलाड़ी बाजू पर काली पट्टी बांधकर मैदान में उतरे। मैच के बाद कप्तान जैसन होल्डर ने अपनी टीम की जीत अल्जारी जोसेफ, उनकी मां और परिवार को समर्पित की। होल्डर ने कहा, ‘अल्जारी की मां की खबर मिलने के बाद हम सभी खिलाड़ी बेहद दुखी थे, लेकिन खेल नहीं रोका जा सकता था। इसलिए हमने खुद को और एकजुट करते हुए मैदान से ही उन्हें श्रद्धांजलि देने फैसला किया। इंग्लैंड के खिलाफ मैच की इस जीत को हम उन्हें समर्पति है।

जोसेफ की तारीफ करते हुए होल्डर ने कहा कि अल्जारी ने इस दुख के समय पर जो हिम्मत दिखाई और अद्भुत है। दुनिया में बहुत सारे लोग ऐसा नहीं कर पाते हैं। लेकिन जोसेफ अद्वितीय हैं। दुनियाभर के क्रिकेटर इस युवा खिलाड़ी के जज्बे को सलाम कर रहे हैं। भारत के पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने अल्जारी का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने दुख की घड़ी में गजब का जज्बा दिखाया। वहीं मोहम्मद कैफ ने भी अल्जारी को सलाम करते हुए लिखा कि अपनी मां के निधन के खबर सुनने के बाद शानदार बॉलिंग की, यह खेल और अपने देश के प्रति अल्जारी का जज्बा है।

बता दें कि वेस्टइंडीज ने इंग्लैंड को दूसरे टेस्ट में 10 विकेट से हराकर तीन मैचों की सीरीज अपने नाम कर ली है। वेस्ट इंडीज की इस जीत के हीरो गेंदबाज रहे, जिन्होंने इंग्लैंड को पहली पारी में 187 और दूसरी पारी में 132 रन पर समेट दिया। वेस्टइंडीज ने पहली पारी में 306 रन बनाकर 119 रन की बढ़त ली थी। वहीं दूसरी पारी में बिना विकेट खोए 17 रन बनाकर मैच जीत लिया।