fbpx

Twitter पर PM मोदी ने की घोटालेबाज नीरव मोदी की तारीफ, रिप्लाई आया- मैं अपना लोन माफ समझूं

नई दिल्ली: शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक नए अभियान की शुरूआत की नाम था… #MainBhiChowkidar। इस अभियान से इतने लोग जुड़ते गए जिसका अंदाजा लगाना काभी मुश्किल है। इस अभियान के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सबसे जुड़ने के लिए आग्रह किया। शनिवार की रात होते होते सबकुछ बदल गया। यहां तक की पीएम मोदी की पहचान तक बदल गई।

शनिवार तक जो नरेंद्र मोदी थे.. वो रविवार को चौकीदार नरेंद्र मोदी कहलाने लगे। पीएम मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल का नाम क्या बदला… कि कुछ ही घंटों में तमाम बीजेपी के सेनापति भी राजा मोदी के राह पर चल पड़े। लगभग हर बीजेपी नेता ने अपने ट्विटर हैंडल पर अपने नाम से पहले चौकीदार लिखना शुरू कर दिया। फिर चाहे वो अमित शाह हो या किसी जिले का पार्षद।

इस अभियान के तहत कुछ ऐसे लोग भी जुड़े थे, जो हर जगह पहुंच जाते हैं। आम भाषा में इन्हें फर्जी कहा जाता है। जी हां कुछ फर्जी अकाउंट भी इस हैजटैग के जरिए बीजेपी के इस अभियान से जुड़े। इसके बाद जितने भी अकाउंट्स से इस हैशटैग के साथ ट्वीट किया गया, उन सब को प्रधानमंत्री के वेरिफाइड अकाउंट से रिप्लाई भेजा गया। इसमें कई फेक और पैरोडी अकाउंट्स शामिल थे। इन्हीं में नीरव मोदी का फेक अकाउंट और खुद नरेंद्र मोदी का फेक अकाउंट भी शामिल था, जिसपर प्रधानमंत्री के रिप्लाई को काफी ट्रोल किया गया।

मोदी के ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट में कहा गया कि आपका चौकीदार मजबूती से खड़ा है और देश की सेवा कर रहा है। लेकिन, मैं अकेला नहीं हूं। हर व्यक्ति जो भ्रष्टाचार, गंदगी और सामाजिक बुराईयों से लड़ रहा है, वह भी चौकीदार है। हर व्यक्ति जो भारत की तरक्की के लिए मेहनत कर रहा है, वह चौकीदार है। आज हर भारतीय कह रहा है कि #MainBhiChowkidar हूं। प्रधानमंत्री के इस ट्वीट के बाद नीरव मोदी के फेक अकाउंट से रिप्लाई आया जिसमें पीएम मोदी से पूछा गया कि क्या मैं अपना लोन माफ समझूं? हालांकि कुछ देर में ही पीएम मोदी के अकाउंट के ट्वीट्स को डिलीट कर दिया गया लेकिन तब तक ट्रोलिंग हो चुकी थी।

Pm Modi के ट्विटर हैंडल से अपने नाम के फेक अकाउंट को भी रिप्लाई किया गया ये। इस अकाउंट का ट्विटर हैंडल है ‘अम्बानी का चेला’। इतना ही नहीं, पीएम मोदी के वेरिफाइड अकाउंट से ‘modi le dubega’ ट्विटर हैंडल को भी इस अभियान में शामिल होने के लिए धन्यवाद दिया गया। ये लालू प्रसाद का फेक अकाउंट है।