भारत के इन हथियारों से पाकिस्तान भी घबराया, PAK विदेश मंत्री ने दुनिया से लगाई मदद की गुहार

  • रूसी S-400 मिसाइल सिस्टम और A-SAT मिसाइल के परीक्षण से घबराया पाकिस्तान
  • पाकिस्तान को शांतिप्रिय देश बताते हुए कुरैशी बोले-गंभीर खतरा हैं भारत के ये हथियार

नई दिल्ली। भारत के आधुनिक हथियारों की खरीद ने पाकिस्तान की इन दिनों नींद उड़ा रखी है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह मोहम्मद कुरैशी ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान रूस के साथ S-400 मिसाइल प्रणाली की डील को पूरे क्षेत्र की स्थिरता के लिए खतरा बताया है। इसके साथ ही कुरैशी ने भारत की परमाणु पनडुब्बियों, एंटी बैलिस्टिक मिसालों के साथ हाल में भारत द्वारा प्रयोग की गई A-SAT मिसाइल पर भी चिंता जाहिर की है।

पाकिस्तानी विदेशमंत्री ने बताया गंभीर खतरा

  • कुरैशी ने कहा, भारत का पारंपरिक हथियारों की तैनाती के साथ-साथ आक्रामक कोल्ड स्टार्ट की नीति और परमाणु पनडुब्बी, राफेल, एंटी-बैलेस्टिक मिसाइल सिस्टम समेत तमाम रणनीतिक पूंजियों का विस्तार पाकिस्तान की सुरक्षा के लिए गंभीर खतरे का संकेत हैं।
  • रूसी S-400 मिसाइल प्रणाली को क्षेत्र की अस्थिरता के लिए खतरा बताते हुए कुरैशी ने इसे दक्षिण एशिया के लिए खतरा बताया है। पाक विदेश मंत्री ने कहा, S-400 जैसे एंटी-बैलिस्टिक मिसाइल सिस्टम की एंट्री रणनीतिक स्थिरता के लिए चुनौती पैदा कर सकती है। सुरक्षा के भ्रामक माहौल में ये किसी हादसे को अंजाम दिलवा सकती है।

कुरैशी ने लगाई मदद की गुहार

कुरैशी ने दक्षिण एशियाई क्षेत्र में हथियारों की आपूर्ति को लेकर वैश्विक ताकतों को सतर्क होकर अपना कर्तव्य निभाने की सलाह भी दे डाली। इससे साफ जाहिर है कि पाकिस्तान के भीतर भारत की हथियारों की डील से डर का माहौल है। पाकिस्तान को शांतिप्रिय देश करार देते हुए कुरैशी ने कहा कि हमारे पड़ोसी को यह समझने की जरूरत है कि केवल बातचीत ही एक रास्ता है।

क्या है S-400 मिसाइल प्रणाली

  • भारत और रूस के बीच पिछले साल 5.43 अरब डॉलर में रूसी S-400 मिसाइलों के लिए डील साइन की गई थी। भारत को S-400 की पहली खेप 2020 में मिलेगी।
  • S-400 लॉन्ग-रेंज एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम दुश्मन के आने वाले लड़ाकू विमानों, मिसाइलों और यहां तक कि 400 किलोमीटर तक की ऊंचाई पर उड़ रहे ड्रोन को नष्ट कर सकता है।
  • भारत की सैन्य प्रणाली में एस-400 के शामिल होने से उसकी ताकत कई गुना बढ़ जाएगी। डील के तहत भारत को कुल 5 S-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम रूस से मिलेंगे।