नेपाल का भारत को एक और झटका, 17 सितंबर को चीन के साथ युद्धाभ्यास करेगी नेपाल की सेना
देश, विदेश

नेपाल का भारत को एक और झटका, 17 सितंबर को चीन के साथ युद्धाभ्यास करेगी नेपाल की सेना

नई दिल्ली: भारत और नेपाल के बीच रिश्तों में थोड़ा खटास देखने को मिल रही है। एक हफ्ते से भी कम समय में नेपाल ने भारत को दूसरा झटका दिया है। जानकारी के मुताबिक नेपाली सेना इसी महीने 17 से 28 सितंबर के बीच चीन के साथ युद्धाभ्यास करेगी। इसकी पुष्टी नेपाली सेना के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल होकुल भंडारी ने की है।

गोकुल भंडारी ने अंग्रेजी अखबार The Times of India से बातचीत में कहा कि चीन के साथ नेपाल का यह दूसरा सैन्य अभ्यास है, जो चेंगदू में हो रहा है। जिसका मुख्य लक्ष्य आतंक-विरोधी अभियानों के लिए सेना को तैयार करना है। इससे पहले नेपाल ने भारत को झटका देते हुए 10 सितंबर से शुरू हुए बिम्सटेक(बंगाल की खाड़ी बहु-क्षेत्रीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग उपक्रम) देशों के युद्धाभ्यास में हिस्सा लेने से मना किया था।

ग़ौरतलब है कि बिम्सटेक- भारत, बांग्लादेश, म्यांमार, श्रीलंका, थाइलैंड, भूटान और नेपाल का क्षेत्रीय संगठन है। पुणे में इन देशों के संयुक्त सैन्य अभ्यास का मकसद भी आतंक-विरोधी अभियानों के लिए सेनाओं को तैयार करना ही है। इसके लिए नेपाली सेना की टुकड़ी भारत पहुंच गई थी। लेकिन आख़िरी मौके पर उसे वापस बुला लिया गया।

कहा जा रहा है कि नेपाल बिम्सटेक देशों के बीच रक्षा और सुरक्षा सहयोग बढ़ाने के लिए भारत द्वारा किए गए प्रयासों से खुश नहीं है। इसलिए उसने ये फैसला किया। हालांकि इसे नेपाल की चीन से बढ़ती नज़दीकी से जोड़कर देखा जा रहा है। नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली चीन के करीबी माने जाते हैं।

11 September, 2018

About Author

[email protected]