मर्दानी बढ़ाने वाली इस दवाई के चलते हुई 8 लोगों की मौत, सोने से भी तीन गुना महंगा है दाम

नई दिल्ली: 7000 रुपये प्रति(Himalyan viagra price) किलो बिकने वाली मशहूर दुर्लभ जड़ी-बूटी(Ayurvedic Medicine) यार्सागुम्बा यानी ‘हिमालय की वियाग्रा’ ( Himalayan Viagra ) के कारण 8 लोगों की मौत की खबर है। चौंकाने वाली ये खबर नेपाल(Nepal) के डोल्पा जिले की है जहां यार्सागुम्बा की खोज में पहाड़ों में गए 8 लोगों की मौत हो गई। जिसमें एक बच्चा भी शामिल था।

Source-Google

Himalayan Viagra के चलते गई 8 लोगों की जान

  • बताया जाता है कि कामोतेजक गुणों के लिए विख्यात दुर्लभ जड़ी-बूटी यार्सागुम्बा केवल 10 हजार फुट से अधिक ऊंचे हिमालय के पहाड़ों में पाया जाता है।
  • नेपाल पुलिस का कहना है कि पिछले हफ्ते में इस औषधि को इकट्ठा करते हुए अब तक 8 लोगों की मौत हो चुकी है।
  • खबरों की माने तो इनमें से 5 लोगों की मौत ऊंचाई के हिसाब से शरीर के ना ढलने के करण हुई, जबकि 2 लोग इस बूटी को एक खड़ी चट्टान से बूटी को इकट्ठा करते वक्त नीचे गिर गए।

7000 रुपये प्रति ग्राम बिकती है ये जड़ी-बूटी

इन सबके अलावा इसमें सबसे दर्दनाक मौत एक बच्चे की हुई, जो अपनी मां के साथ इस बूटी को इकट्ठा करने गया था। बच्चे का शरीर पहाड़ की ऊंचाई के हिसाब से ढल नहीं पाया और बीमारी से उसकी मौत हो गई। गौरतलब है कि हर बार गर्मियों में लोग इस बहुमूल्य जड़ी-बूटी की खोज में मीलों दूर से आते हैं, जो पूरे एशिया और अमेरिका में 100 अमरीकी डॉलर (लगभग 7,000 रुपये) प्रति ग्राम से भी अधिक में बिकती है।

Source-Google

क्‍या है Himalayan Viagra?

ये जड़ी बूटी हिमालय में पाई जाती है जिसे दुनिया ‘हिमालयन वायग्रा’ के नाम से जानती है। यूं तो यह एक फंगस है लेकिन इसे हासिल करने को चीन, नेपाल, तिब्‍बत से लेकर भारत में खून तक बहा है। नेपाली में ‘यार्सागुम्‍बा’ के नाम से मिलती है, वैज्ञानिक नाम Ophiocordyceps sinensis है। साढ़े तीन हजार फुट से ज्‍यादा ऊंचाई पर ही मिलती है himalayan viagra।

Source-Google

किन कारणों से इतनी महंगी Himalayan Viagra

लोग दावा करते हैं कि चाय, सूप या किसी और रूप में इसका सेवन नपुंसकता से लेकर कैंसर तक का इलाज कर देता है। यौन शक्ति बढ़ाने और इरेक्‍टाइल डिस्‍फंक्‍शन को दूर करने की आयुर्वेदिक दवा(Ayurvedic Medicine) के रूप में इसका ऐसा प्रचार हुआ है कि दुनिया भर में इसकी मांग तेजी से बढ़ी है। रिसर्चर्स के मुताबिक, चीन के बीजिंग में यह सोने से तीन गुना कीमत पर बिकती है।