बांग्लादेश में पाकिस्तानियों की एंट्री पर लगा बैन, शेख हसीना सरकार ने वीजा देने से किया मना

नई दिल्ली: पाकिस्तान और बांग्लादेश के बीच कूटनीतिक विवाद गर्माने लगा है। इस्लामाबाद स्थित बांग्लादेश उच्चायोग ने एक हफ्ते के लिए पाकिस्तानी नागरिकों को वीजा जारी करने से रोक लगा दी है। यानी साफ है कि अब पाकिस्तान की ओर से कोई भी नागरिक फिलहाल बांग्लादेश नहीं जा सकेगा।

इस बात की जानकारी एक बांग्लादेशी अधिकारी ने मंगलवार को दी थी। गौरतलब है कि दोनों देश के बीच हालही में हुए कूटनीतिक विवाद के बाद ये अहम कदम उठाया गया। ये विवाद तनाव में बदल गया है इसके पीछे का कारण बांग्लादेश ने साल 1971 के मुक्ति संग्राम के कई युद्ध अपाराधियों को फांसी देना है।

ये फैसला साल 2013 में किया गया था। इसके बाद से दोनों देशों के बीच संबंध तनावपूर्ण हो गए हैं। बांग्लादेशी विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि आप इसे पाकिस्तानी रुख के विरोध का संकेत कह सकते हैं। रणनीतिक मामलों के जानकार ब्रह्मा चेलानी ने कहा कि पाकिस्तान और बांग्लादेश के बीच द्विपक्षीय रिश्तों में तनाव पैदा हो गया है।

उन्होंने एक ट्वीट में कहा कि बांग्लादेश पाकिस्तान पर अपनी जमीन पर आतंकवाद के वित्तपोषण का आरोप लगाता रहा है। दोनों देशों के रिश्ते इतने खराब हो गए हैं कि बांग्लादेश ने 2018 से पाकिस्तान के नए उच्चायुक्त पर मंजूरी नहीं दी है। अब बांग्लादेश ने पाकिस्तानियों का वीजा ही रोक दिया है।

गौरतलब है कि ढाका में पाकिस्तानी उच्चायोग बांग्लादेश उच्चायोग के प्रेस एवं वीजा मामलों के काउंसलर इकबाल हुसैन के परिवार के सदस्यों के वीजा आवेदन को आगे नहीं बढ़ा रहा। इसके कारण हुसैन अपने परिवार से नहीं मिल पा रहे हैं। दैनिक ‘ढाका ट्रिब्यून’ ने हुसैन के हवाले से कहा है कि पाकिस्तानी नागरिकों को वीजा जारी किया जाना निलंबित कर दिया गया है क्योंकि इस्लामाबाद में बांग्लादेश उच्चायोग का वीजा काउंटर पिछले सोमवार (13 मई) से बंद है।