World Mental Health Day 2019: हम पागल नहीं हैं, हमें बस तनाव है
देश, विदेश, सेहत

World Mental Health Day 2019: हम पागल नहीं हैं, हमें बस तनाव है

हर चार में से एक इंसान होता है जिसको कोई न कोई मानसिक तनाव होता ही है, और तनाव में वे ऐसे काम करने लगता है। जिसकी वजह से उसको लोग पागल समझ लेते हैं। लेकिन उनको क्या पता कि उसके मन में क्या चल रहा है। 10 अक्टूबर को हर साल दुनियाभर में वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे(World Mental Health Day 2019) मनाया जाता है। इसका मकसद है मेंटल हेल्थ यानी मानसिक स्वास्थ्य को लेकर लोगों के बीच जागरुकता फैलाना, ताकि दुनियाभर में लोग सिर्फ शारीरिक स्वास्थ्य ही नहीं बल्कि मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दे को भी गंभीरता से लें।

source-google

वर्ल्ड फेडरेशन फॉर मेंटल हेल्थ द्वारा विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस का आयोजन किया जाता है। इस वर्ष के दिवस (World Mental Health Day 2019) को डब्ल्यूएचओ, इंटरनेशनल एसोसिएशन फॉर सुसाइड प्रिवेंशन, और यूनाइटेड फॉर ग्लोबल मेंटल हेल्थ द्वारा समर्थित है।

source-google

वर्ल्ड मेन्टल डे की थीम (World Mental Health Day theme)

अधिकतर लोग अपनी ज़िंदगी से इस कदर परेशान हो जाते हैं कि वे अपनी ज़िंदगी को खत्म करने की सोच लेते है, और कुछ लोग तो अपनी ज़िंदगी को खत्म भी कर देते हैं। इन दिनों आत्महत्या की खबरें बहुत देखने और सुनने को मिल रही है. इन आत्महत्याओं की वजह और कुछ नहीं केवल मानसिक तनाव है। इसलिए इस बार की वर्ल्ड मेन्टल डे थीम है “‘सुइसाइड प्रिवेंशन यानी आत्महत्या पर रोकथाम”।

source-google

WHO के आंकड़े

WHO के अनुसार दुनियाभर में हर 40 सेकंड में 1 व्यक्ति आत्महत्या करता है। इस हिसाब से आत्महत्या की वजह से हर साल करीब 8 लाख लोगों की मौत हो जाती है। मानसिक बीमारी, डिप्रेशन, ऐंग्जाइटी बहुत सारी वजहें होती हैं। जो इंसान को आत्महत्या करने के लिए मजबूर करती हैं। वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे के मौके पर आत्महत्या को कैसे रोका जाए इस पर विश्व स्वास्थ्य संगठन का फोकस है।

source-google

सोच को बदलें (World Mental Health Day quotes)

सकारात्मक सोच है, तो मानसिक बीमारी दूर है,
और जो शारारिक और मानसिक बीमारियों से दूर है
वो सुखी ज़रूर है।

source-google


10 October, 2019

About Author

Ashish Jain