टी.बी की बीमारी ले सकती है आपकी जान, टी.बी के लक्षण और टी.बी का इलाज
सेहत

टी.बी की बीमारी ले सकती है आपकी जान, टी.बी के लक्षण और टी.बी का इलाज

Health Desk: टी.बी की बीमारी बहुत ही भयंकर होती है। जो ट्यूबरक्‍युलोसिस बैक्टीरिया के कारण होती हैं। इस बीमारी से भी बहुत से लोग ग्रस्त है और यह सीधा फेफड़ो को अपना निशाना बनाती है लेकिन फेफड़ो के आलावा यह यूटरस, ब्रेन, मुँह, लिवर, किडनी में भी होता है। लेकिन अध्यन से यह बात सामने आती है कि सबसे ज्यादा टी बी फेफड़ों में पाई जाती है और इसको होने का एक तरीका यह भी हैं दूषित हवा सांस के साथ अंदर से इसके विषाणु बनाती है। आइए बताते है कि टी बी के विषाणु के लक्षण और बचने के तरीके।

Source-google

टी बी के लक्षण

  • टी बी का सबसे बड़ा लक्षण ख़ासी है जिसकी शुरुआत सुखी खासी से होता है पर बाद में सुखी खासी से बदलाव होकर बलगम फिर उसके बाद खून आना शुरू हो जाता है।
  • मौसम जैसा भी हो रात को सोते वक़्त तेज़ी से पसीना आना।
  • टी बी के विषाणु शरीर में जाने के बाद सीधा इम्यून सिस्टम पर आक्रमण करता हैं जिसकी वजह से बुखार होने लगता है और शरीर में थकान होने लगती हैं।
  • एकदम से सारे शरीर का वजन कम होने लगता है। वजन कम होने की वजह से बीमारी और विक्राल रूप ले लेती है।
source-google

टी बी से बचने के उपचार

  • 2 हफ्ते से ज्यादा ख़ासी होने पर तुंरत डॉक्टर को दिखाए।
  • धूल मिट्टी को अपने शरीर के अंदर न जाने दें।
  • पौषिक तत्व वाला खाना खाए और योग और एक्सरसाइज करें।
  • बीड़ी, गुटखा और शराब से जितना हो सके उतना दुरी बनाए।
  • भीड़ भाड़ और गंदगी वाले इलाको से दूर रहे।
  • अगर आप गर्भावस्था में है और इस बीमारी से ग्रस्त है तो अपने बच्चे को BCG का टीका जरूर लगाएं।
  • डॉक्टर से बिना पूँछे कोई भी दवाई का सेवन न करें। उसका प्रणाम बहुत ही बुरा हो सकता हैं।
source-google
11 August, 2019

About Author

Shivam Thakur