जानिए कौन सी चीनी है आपके शरीर के लिए बेहतर!
सेहत

जानिए कौन सी चीनी है आपके शरीर के लिए बेहतर!

चीनी या शुगर का नाम लेते ही हमारे मुंह में मिठास घुलने लगती है। चीनी हमारे दैनिक जीवन में खान-पान के लिए बहुत जरूरी है। चीनी की कुछ मात्रा दैनिक जीवन में हमारे लिए आवश्यक होती है। अक्सर हम लोगों के दिमाग मे यह बहस चल रही होती है, जब हम लोग किसी डिपार्टमेंटल स्टोर या किसी दुकान पर जाते हैं, कि ब्राउन शुगर (Brown Sugar)और वाइट शुगर (White Sugar) में क्या हमारे लिए बेहतर है। आमतौर पर घर में वाइट शुगर का इस्तेमाल किया जाता है।

source-google

ब्राउन शुगर(Brown Sugar) और वाइट शुगर (White Sugar) बनाने के तरीकों में अंतर है
चाहे वो ब्राउन शुगर (Brown Sugar) हो या फिर वाइट शुगर (White Sugar)दोनों ही गन्ने से बनाये जाते हैं। वाइट शुगर (White Sugar) को बनाने के लिए सबसे पहले गन्ने का जूस निकालकर उसे क्रिस्टल रूप में बदल देते हैं। फिर गंदगी निकालकर क्रिस्टल को गर्म पानी मे प्रवाहित करते हैं जिसकी वजह से अलग अलग साइज के व्हाइट शुगर के टुकड़े बनते जाते हैं।

source-google

ब्राउन शुगर(Brown Sugar) के फायदे और नुकसान

इसमें गुड़ होता है जिसमें ढेर सारे विटामिन और मिनरल्स जैसे आयरन, कैल्शियम आदि होते हैं। इसके अलावा इसमें कुछ भी हेल्दी चीजें नही होती जो इसे पोषक बनाती हैं। ब्राउन शुगर (Brown Sugar)के फायदे इस प्रकार है

source-google
  • ब्राउन शुगर (Brown Sugar) से शरीर पर कुछ ऐसी प्रक्रिया होती है जिसके प्रभाव से शरीर को ऊर्जा मिलती है।
  • ब्राउन शुगर (Brown Sugar) मे पर्याप्त मात्रा मे एमिनो एसिड पाईजाती है जिसके मदद से हमारी शरीर हर काम को अच्छे से निभा पाती है।
  • अगर आप को वजन कम करना है तो आप इसका इस्तेमाल कर सकते है , क्योंकि इसमे कैलोरी की मात्रा कम पायी जाती है जो की आपके शरीर मे कैलोरी की मात्रा को संतुलित बनाए रखता है।
  • ब्राउन शुगर (Brown Sugar) से आपका पाचन तंत्र ठीक रहता है इसलिये ये आपके शरीर के लिए बहुत आवश्यक है क्योंकि शरीर की सबसे अधिक बीमारी का जन्म पाचन अच्छे से न होने की वजह से ही होती है इसलिये इसका इस्तेमाल स्वास्थ के प्रति बहुत जरूरी है।
  • ब्राउन शुगर (Brown Sugar) महिलाओ के लिए भी बहुत जरूरी है क्योंकि ये पीरियड्स के समय होने वाली एठन से बचाता है, इसलिये महिलाओं को इसका सेवन करना चाहिए।
  • ब्राउन शुगर (Brown Sugar) खाने वालो की त्वचा बहुत ही मुलायम और चिकनी होती है और त्वचा से होने वाली अन्य बीमारी से भी बचाता है इसलिये भी इसका उपयोग जरूरी है।
  • ब्राउन शुगर (Brown Sugar)के प्रयोग से शर्दी जुखाम भी ठीक हो जाता है, इसलिये जुखाम के समय आपको इसका इस्तेमाल करना चाहिए।
  • ब्राउन शुगर (Brown Sugar)खाने वालो को अस्थमा जैसी कोई भी बीमारी नही होती है इसलिये इसका इस्तेमाल आपको नियमित रूप से करना चाहिए।
source-google

सबसे बड़ी बात ये होती है की आप कोई भी चीज खाते है या पीते है तो उसकी एक सीमा होती है अगर आप उस सीमा को पार करेंगे तो वो आपको नुकसान पहुचाएंगी। ब्राउन शुगर (Brown Sugar) के नुकसान इस प्रकार है

  • इसके ज्यादा इस्तेमाल से आपको शुगर की बीमारी हो सकती है इसलिये हिसाब से उपयोग मे लाए।
  • यदि आप इसका सेवन पहली बार कर रहे है हो आपको कुछ लक्षण दिखाई देगे, जैसे – उल्टी, सर दर्द और खुजली आदि।
  • इसके ज्यादा प्रयोग से आपका मुह सूखने लगता हैं इसलिय हमारी सलाह है कि आप ब्राउन शुगर का प्रयोग सीमित मात्रा मे करे क्योंकि ऊपर बताई गई की सभी बीमारी के शिकार हो सकते है इसलिये आप इन सब बातों पर ध्यान दें।
source-google

वाइट शुगर (White Sugar)

व्हाइट शुगर (White Sugar) में रासायनिक मात्रा ज्यादा होती है। यह सफेद होने की वजह से ज्यादा लोगों को पसंद आता है। इसमें मिनरल्स और आयरन जैसे पोषक तत्व नहीं होते हैं। यह थोड़ी मात्रा में उपयोग करने पर भी पर्याप्त मीठा होता है। वाइट शुगर (White Sugar) के फायदे

source-google
  • खून में पहुंचकर चीनी ग्लूकोज में बदल जाती है, जो चीनी का आसान रूप होता है। इसके बाद तुरंत थकान मिट जाती है।
  • जिन लोगों को लो ब्लड प्रेशर की शिकायत होती है उन्हें अपने साथ शुगर क्यूब्स रखने की सलाह दी जाती है, इसे खाने से ब्लड प्रेशर बढ जाता है।
  • हमारा दिमाग बिना शुगर के काम ही नहीं कर सकता। जब दिमाग को शुगर सप्लाई बंद हो जाती है तो ब्लैक आउट की स्थिति पैदा हो जाती है।
  • डिप्रेशन को दूर करने में भी शुगर बहुत मददगार है। आपने जरूर सुना होगा कि डिप्रेशन से जूझ रहे लोगों को अपने पास चॉकलेट रखनी चाहिए, इससे मूड अच्छा होता है।
source-google

वाइट शुगर (White Sugar) के नुकसान इस प्रकार है

  • वाइट शुगर (White Sugar) शरीर में एसिड पैदा करती है, ये पेट में गैस का कारण बनती है । शुगर को पचाने में 500 कैलोरी खर्च होती है। यानी इसे डायजेस्‍ट करने में अधिक मेहनत की जरूरत होती है।
  • चीनी अधिक मात्रा में खाने से डयबिटीज की समस्‍या हो जाती है। ये शरीर में इंसुलिन को इम्‍बैंलेस कर देती है।
  • चीनी पूर्ण रूप से कार्बोहाइड्रेट होती है, यह ब्‍लड में सीधे पहुंचकर रक्त के दबाव पर असर डालती है । शुगर की अधिक मात्रा हाई बीपी जैसी प्रॉब्‍लम की वजह बनती है । हाई ब्‍लड प्रेशर से हार्ट अटैक की संभावना बढ़ती है ।
  • अधिक शुगर का सेवन रक्‍त के दबाव को प्रभावित करता है, ये हाई बीपी का कारण है । ब्‍लड में कोई भी असंतुलन होते ही इसका असर मस्तिष्‍क पर पड़ने लगता है और व्‍यक्ति को ब्रेन अटैक या ब्रेन हैमरेज तक हो सकता है ।
  • वाइट शुगर (White Sugar) को चमकदार बनाने की प्रक्रिया में चूना, कार्बन डाई ऑक्साइड, कैल्शियम, फॉस्फेट, फॉस्फोरिक एसिड, अल्ट्रा मरिन ब्लू और पशुओं की हड्डियों का चूर्ण उपयोग में लिया जाता है । इसे इतने तापमान पर पकाया जाता है कि इसमें मौजूद पोषक तत्‍व निर्माण प्रक्रिया में ही खत्‍म हो जाते हैं। इसलिए इसका सेवन करने से अच्‍छा है शुगर से छुटकारा पाना ।
source-google

कौन सी चीनी है बेहतर

अब आपको ब्राउन शुगर (Brown Sugar) और वाइट शुगर (White Sugar) में कौन बेहतर है और किसमें कम कैलोरी है। इन चीजों को लेकर बेवकूफ बनने की जरूरत नही है। आप कोई भी शुगर इस्तेमाल कर सकते हैं। दोनों में से कोई भी शुगर अधिक मात्रा में इस्तेमाल किया जाए तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है।

source-google
18 October, 2019

About Author

Ashish Jain