अगर ऑफिस में आपके साथ होती हैं ये 10 बातें, तो तुरन्त छोड़ दें नौकरी
सेहत

अगर ऑफिस में आपके साथ होती हैं ये 10 बातें, तो तुरन्त छोड़ दें नौकरी

ऑफिस का काम आपकी निजी ज़िंदगी पर बहुत प्रभाव डालता है क्योंकि आप अपने 24 घंटों में से 8 से 9 घंटे ऑफिस में दे देते हैं। जिसे अगर हम आपका दूसरा घर भी कहें तो इसमें कोई गलत बात भी नहीं होगी। ऐसे में साफ है कि अगर आप अपनी जिंदगी का आधा समय ऑफिस में गुजारते हैं तो ऑफिस की कई सारे बातें आपके साथ होती हैं, जैसे कि बॉस की डाट खाना, साथी कर्मचारी के साथ झगड़ा होना इत्यादि।

source-google

ऐसे में अगर आप ऑफिस में खुश नहीं रहे पाते हैं तो इसका सीधे तौर पर आपकी जिंदगी पर गहरा असर पड़ता है। जिसके कारण आप डिप्रेशन का शिकार हो सकते हैं। ऑफिस में काम को लेकर होने वाले तनाव में आप खुद को कही खो सा देते हैं। जिस वजह से आप का मन न ऑफिस, न घर पर और न ही किसी अन्य जगह पर लग पाता है।

source-google

कैसे होते हैं तनाव के लक्षण

ध्यान केंद्रित करने में होती है परेशानी

  • यदि आप ऑफिस में निराशाजनक स्थितियों का सामना कर रहे हैं तो, हो सकता है कि आपका ध्यान एक जगह पर केंद्रित न हो। जिसके चलते आपके दिमाग में कई सारी बातें घूमती रहती हैं, और इसी वजह से निराश रहते हैं, साथ ही अपने काम पर फोकस नहीं कर पाते हैं।
source-google

खुद को चिंतित महसूस होना

  • ऑफिस की बातों को लेकर हर समय चिंता महसूस करना। काम की जगह पर दिमागी रूप से उपस्थित न होना, और हर समय कहीं खोए-खोए से रहना।
source-google

किसी भी काम को लेकर उत्साह और ऊर्जा की कमी होना

  • ऑफिस में अगर आप किसी काम को लेकर या फिर किसी के व्यवाहर को लेकर परेशान रहते हैं या फिर कुछ ऐसी बातें जो आपको बार-बार सुनने को मिलती हो। ऐसी स्थिति के चलते आपके अंदर कोई भी कार्य को लेकर उत्साह और ऊर्जा नहीं होगी।
source-google

दिमागी तौर पर स्थिर न होना

  • अगर कोई बात आपको बार-बार परेशान कर रही है, और आपके ज़हन में वही बात आती रहती है। तो आप दिमागी तौर पर स्थिर नहीं रहे पाएंगे।
source-google

ज्यादा थकान महसूस होना

  • जब ऑफिस में आप बोरियत या फिर निराश होकर काम करते हैं तब आप ज्यादा थकान महसूस करते हैं।
source-google

अपने काम के बारे में कम जानकारी होना

  • अपने काम में दूसरों के मुकाबले कम कौशल होना या फिर ज्यादा गहराई से काम की जानकारी का न होना आपकी चिंता का कारण हो सकता है।
source-google

जॉब सिक्योरिटी की टेंशन

  • अगर हम जॉब की सिक्योरिटी की बात करें तो इसको लेकर आपका दिमाग हमेशा से ही चिंता में रहता है क्योंकि जब जॉब नहीं होगी तो खर्चे कहां से निकलेंगे।
source-google

ऑफिस में पॉलिटिक्स महसूस होना

  • ऑफिस में पॉलिटिक्स का खेल, सबसे बुरा खेल माना जाता है। इस खेल में अक्सर जूनियर लेवल के कर्मचारी पिस जाते हैं, और सीरियर उनपर दवाब बना देते हैं।
source-google

ऑफिस में काम का प्रेशर

  • बॉस द्वारा आप पर लगातार काम का प्रेशर डालना और दिन प्रति दिन आप पर काम का बोझ बढ़ाना भी आपको परेशानी में डाल सकता है।
source-google

माता और पिता द्वारा ताने दिए जाना

  • भारत में अधिकतर बच्चों का कैरियर अपने माता पिता चुनते हैं, जिसके कारण बच्चों को उनकी जिंदगी एक बोक्ष लगने लगती हैै। ऐसे में आपकी चिंता उन्हें डिप्रेशन में डाल सकती है।
source-google
14 October, 2019

About Author

Ashish Jain