कौन है ‘देशभक्त’ प्रज्ञा ठाकूर या गोडसे ?, अपने बचाव में प्रज्ञा ने किस पर साधा निशाना ?
देश, राजनीति

कौन है ‘देशभक्त’ प्रज्ञा ठाकूर या गोडसे ?, अपने बचाव में प्रज्ञा ने किस पर साधा निशाना ?

बुधवार का दिन, संसद के लोकसभा में शीतकालीन सत्र चल रहा था, बीजेपी की नेता प्रज्ञा ठाकूर (BJP, Pragya Thakur) बोल रही थीं, और बोलते बोलते उन्होंने देश के बापू यानी के महात्मा गांधी के हत्यारे नथुराम गोडसे (Nathuram Godse) को देशभक्त बताया दिया, जिसके बाद संसद में हंगामा देखने को मिला। और ये हंगामा न सिर्फ बुधवार बल्कि आज भी देखने को मिला है। कांग्रेस के सांसदों से आज प्रज्ञा ठाकूर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। साथ ही लोकसभा से वॉकआउट किया।

Source-google

BJP ने लिया एक्शन

खबरों के अनुसार साध्वी प्रज्ञा (BJP, Pragya Thakur) के खिलाफ पार्टी की अनुशासन समिति बड़ी कार्यवाही करेगी। उन्हें पार्टी से निष्कासित भी किया जा सकता है। बीजेपी के कार्यवाहक अध्यक्ष जेपी नड्डा (J.P Nadda) ने कहा कि संसद में कल का उनका बयान निंदनीय है. बीजेपी कभी भी इस तरह के बयान या विचारधारा का समर्थन नहीं करती है।

Source-ani

प्रज्ञा हैं गांधी जी के दुश्मन की दोस्त !

बुधवार को लोकसभा में नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) के देशभक्त बयान पर प्रज्ञान ठाकूर पर सवाल खड़े करते हुए AIMIM के प्रमुख ओवैसी (A Owaisi) ने कहा कि “यह पहली बार नहीं है जब उन्होंने ऐसा कुछ कहा हो। यह दिखाता है कि वे गांधी की दुश्मन हैं और उनके हत्यारों का समर्थक करती हैं। मैंने स्पीकर को प्रिविलेज मोशन दिया है, देखते हैं क्या होता है।”

Source-ani

तहसीन पूनावाला को लिया हिरासत में

दिल्ली के विजय चौक पर राजनीतिक विश्लेषक तहसीन पूनावाला (Tehseen Poonawalla) ने प्रज्ञा ठाकूर (BJP, Pragya Thakur) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। जिसमें नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) को ‘देशभक्त’ बताया गया था, जिसको लेकर उन्होंने अपने हाथों में एक बैनर भी पकड़ा। हांलाकि बाद में उन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया। इतना ही नहीं, खबरों की मानें तो BJP की साध्वी प्रज्ञा ठाकूर बाके के शीतकालीन सत्र में अब हिस्सा नहीं ले पाएंगी।

Source-ani

अपने बचाव में प्रज्ञा ने किस पर साधा निशाना

अपनी टिप्पणी और चल रहे हंमागे के बीच साध्वी प्रज्ञा ठाकूर ने अपने ट्वीटर अकांउट पर अपनी सफाई दी है, साथ ही उन्होंने अपने विपक्षियों पर निशाना साधते हुए कहा कि ” कभी-2 झूठ का बबण्डर इतना गहरा होता है कि दिन मे भी रात लगने लगती है किन्तु सूर्य अपना प्रकाश नहीं खोता पलभर के बबण्डर मे लोग भ्रमित न हों सूर्य का प्रकाश स्थाई है। सत्य यही है कि कल मैने ऊधम सिंह जी का अपमान नहीं सहा बस। “

Source-Twitter
28 November, 2019

About Author

Ashish Jain