मिजोरम विधानसभा चुनाव: 28 नवंबर को डाले जाएंगे वोट, 209 उम्मीदवारों की किस्मत EVM में होगी कैद
राजनीति

मिजोरम विधानसभा चुनाव: 28 नवंबर को डाले जाएंगे वोट, 209 उम्मीदवारों की किस्मत EVM में होगी कैद

मिजोरम: राज्य में नई विधानसभा के लिए बुधवार(28 नवंबर) को वोट डाले जाएंगे। यहां कांग्रेस पूर्व मुख्यमंत्री जोरामथांगा की अगुवाई वाले मिजो नेशनल फ्रंट की चुनौती के बीच लगातार तीसरी बार सरकार बनाने के लिए जोर आजमाइश कर रही है। बता दें, मिजोरम पूर्वोत्तर का एकमात्र ऐसा राज्य है जहां कांग्रेस सत्ता में है। इसके अलावा कांग्रेस पंजाब, केंद्रशासित पुड्डचेरी और कर्नाटक में (जनता दल-एस के साथ) सत्ता में है।

साभार-गूगल

किसके बीच है मुकाबला
यहां मुख्य मुकाबला कांग्रेस और मिजो नेशनल फ्रंट के बीच है, हालांकि भाजपा भी यहां अपनी उपस्थिति दर्ज कराना चाह रही है। केंद्र में वर्ष 2004 में मोदी सरकार के आने के बाद से भाजपा ने पूर्वोत्तर क्षेत्र में अपना पांव पसारना शुरू किया है और इस ईसाई बहुल इलाके में भाजपा के प्रदर्शन को काफी उत्सुकता के साथ देखा जाएगा। 40 सदस्यीय मिजोरम विधानसभा सीट के लिए होने वाले चुनाव में मुख्यमंत्री लाल थानहावला हैट्रिक लगाना चाह रहे हैं। उन्होंने दावा किया है कि उनकी सरकार के खिलाफ कोई सत्ता विरोधी लहर नहीं है।

साभार-गूगल

मिजोरम में कुल 209 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं। मुख्यमंत्री दो सीटों सेरछीप और छंपाई दक्षिण से चुनाव लड़ रहे हैं। कांग्रेस यहां 1987 में राज्य को पूर्ण दर्जा मिलने के बाद से 1998 से 2008 के बीच के वर्षो को छोड़कर सत्ता में रही है। करीब 7.7 लाख मतदाता 209 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। चुनाव के मद्देनजर सुरक्षा के इंतजाम भी कर दिए गए हैं। राज्य में पुलिस के साथ अतिरिक्त फोर्स की तैनाती भी कर दी गई है। सुबह 8 से शाम 5 बजे तक वोट डाले जाएंगे।

उधर, चुनाव आयोग भी तैयारी में लगा है। वोटिंग को लेकर EVM को देखा परखा जा रहा है। ताकि किसी तरह की कोई गड़बड़ी ना हो। मिजोरम के साथ कल मध्यप्रदेश में भी वोट डाले जाएंगे। मध्यप्रदेश में भी बुधवार को होने जा रहे विधानसभा चुनाव के लिए मतदान में पांच करोड़ से अधिक मतदाता 2,899 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। मतदान को शांतिपूर्वक संपन्न कराने के लिए सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। राज्य में बुधवार को होने वाले मतदान के लिए चुनाव कर्मचारियों की मंगलवार की सुबह से रवानगी शुरू हो गई। कर्मचारी चुनाव सामग्री लेकर अपने-अपने मतदान केंद्रों की ओर रवाना हो रहे हैं। कर्मचारियों को किसी तरह की असुविधा न हो इसके लिए चुनाव आयोग ने विशेष इंतजाम किए हैं।

27 November, 2018

About Author

[email protected]