मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव: 5 करोड़ मतदाता करेंगे 2,899 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला
राजनीति

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव: 5 करोड़ मतदाता करेंगे 2,899 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला

मध्यप्रदेश: 2019 लोकसभा चुनाव से पहले बुधवार(28 नवंबर) को राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव बीजेपी और कांग्रेस दोनों के लिए सेमीफाइनल जैसा है। विधानसभा चुनाव के लिए होने वाली वोटिंग के लिए सभी तैयार है। चुनाव आयोग ने अपनी ओर से पूरी तैयारियां कर ली है, वहीं राज्य की जनता भी अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए तैयार बैठे हैं।

 Madhya Pradesh assembly elections 2018: religion wise population, employment rate, urban, rural population
साभार-गूगल

बुधवार को होने जा रहे विधानसभा चुनाव के लिए मतदान में पांच करोड़ से अधिक मतदाता 2,899 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। मतदान को शांतिपूर्वक संपन्न कराने के लिए सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। राज्य में बुधवार को होने वाले मतदान के लिए चुनाव कर्मचारियों की मंगलवार की सुबह से रवानगी शुरू हो गई। कर्मचारी चुनाव सामग्री लेकर अपने-अपने मतदान केंद्रों की ओर रवाना हो रहे हैं। कर्मचारियों को किसी तरह की असुविधा न हो इसके लिए चुनाव आयोग ने विशेष इंतजाम किए हैं।

Voting on 65 thousand 365 polling stations in Madhya Pradesh on Wednesday
साभार-गूगल

राज्य के 230 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान होना है। इनमें से 227 मतदान केंद्रों में सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक और तीन मतदान केंद्रों बैहर , लांजी और परसवाड़ा जो नक्सल प्रभावित है, वहां मतदान सुबह सात से दोपहर तीन बजे तक होगा। आयोग के अनुसार, प्रदेश में कुल पांच करोड़ चार लाख से ज्यादा मतदाता मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। इनमें पुरुष मतदाता 2,63,14,957 और महिला मतदाता 2,40,77,719 हैं। मतदाताओं में 18 से 19 साल के 15,78,167, 20 से 29 साल के 1,37,83,383, 30 से 39 साल के 1,28,74,974, 40 से 49 साल के 99,30,546 मतदाता हैं। प्रदेश में कुल 65,341 मतदान केंद्र हैं जिनमें से शहरी क्षेत्र में 17,036 जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में 48,305 मतदान केंद्र हैं। आधिकारिक जानकारी के अनुसार, चुनाव में कानून व्यवस्था और शांतिपूर्ण मतदान के उद्देश्य से केंद्रीय सुरक्षाबलों की 650 कंपनियां तैनात की गई हैं।

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018: बुधवार 5 करोड़ मतदाता करेंगे 2,899 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला
साभार-गूगल

इसके साथ ही प्रदेश के बाहर से आए 33 हजार होमगार्ड भी निर्वाचन ड्यूटी में तैनात किए गए हैं। राज्य के संवेदनशील जिलों में सुरक्षा बल की ज्यादा कंपनियां तैनात की गई हैं। बालाघाट जिले में केंद्रीय सुरक्षाबलों की 76 कंपनियां, भिंड में 24, छिदवाड़ा और मुरैना में 19-19, सागर और भोपाल में 18-18 कंपनियां तैनात की गई है। प्रदेश के 85 प्रतिशत पुलिस बल और होमगार्ड के 90 प्रतिशत बल चुनाव कार्य में तैनात किए गए हैं।

साभार-गूगल

सुरक्षा व्यवस्था के लिये बालाघाट, मंडला और भोपाल में एक-एक हेलीकप्टर तैनात रहेंगे। संचार व्यवस्था बेहतर करने के लिए 20 सेटेलाइट फोन और 28 हजार वायरलेस सेट चुनाव में उपयोग किए जा रहे हैं। भारतीय निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार, संवेदनशील मतदान केंद्रों पर वेबकास्टिंग और सीसीटीवी की व्यवस्था की गई है। वेबकास्टिंग के माध्यम से 6,655 मतदान केंद्रों पर लाइव प्रसारण और 6,400 मतदान केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरा से विशेष निगरानी की व्यवस्था की गई है। इस कार्य के लिए प्रत्येक मतदान केंद्र पर एक अतिरिक्त व्यक्ति भी नियुक्त किया गया है।

27 November, 2018

About Author

[email protected]