RBI ने रेपो रेट में की कटौती, लाखों रुपये के होम लोन वाले ग्रहाकों को होगा फायदा

नई दिल्ली: रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया यानी RBI की मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी (MPC) ने गुरुवार को आम जनता के लिए राहत भरा फैसला सुनाया है। MPC ने ब्याज दरों का ऐलान करते हुए रेपो रेट में 0.25% कटौती की है। बता दें, यह कटौती 6% से घटकर 5.75% कर दी गई है।

यानी इस फैसले का फायदा सीधे-सीधे जनता को होगा। बता दें, रेपो रेट में कमी से सभी तरह के लोन सस्ते होंगे। हालांकि यह बैंको पर निर्भर करता है कि वो रेपो रेट में कमी का फायदा ग्राहकों को कब तक और कितना देता है।

शक्तिकांता दास के गवर्नर बनने के बाद ये तीसरी कटौती

बता दें, इससे पहले फरवरी 2019 और अप्रैल की पॉलिसी में भी RBI ने रेपो रेट में 0.25 फीसदी की कटौती की थी। शक्तिकांता दास के गवर्नर बनने के बाद यह लगातार तीसरी कटौती है। मॉनिटरी पॉलिसी के सभी सदस्यों ने दरें घटाने के पक्ष में वोट किया। अब तक तीन पॉलिसी में 0.75 फीसदी की कटौती की जा चुकी है।

आखिरी क्या होता है रेपो रेट ?

आपको बता दें, रेपो रेट वह दर होती है, जिस पर RBI बैंकों को कर्ज देता है। दरअसल जब भी बैंकों के पास फंड की कमी होती है, तो वे इसकी भरपाई करने के लिए केंद्रीय बैंक यानी आरबीआई से पैसे लेते हैं। आरबीआई की तरफ से दिया जाने वाला यह लोन एक फिक्स्ड रेट पर मिलता है। यही रेट रेपो रेट कहलाता है। इसे भारतीय रिजर्व बैंक हर तिमाही के आधार पर तय करता है। रेपो रेट कम होने का लाभ ग्राहकों तक भी पहुंचता है। बैंक अपने ग्राहकों को सस्ती दर पर लोन ऑफर करते हैं।