जियो फर्म ने दिया बकाया चुकाने का आईडिया
टेक्नाेलॉजी, बिजनेस

जियो फर्म ने दिया बकाया चुकाने का आईडिया

जैसा कि हम सबको पता है कि रिलायंस के आने के बाद से ही सभी टेलीकॉम कंपनीओ को भारी मात्रा में आर्थिक नुकसान हुआ है। Vodafone, Airtel, Idea जैसी कंपनी को सुप्रीम कोर्ट ने तीन महीने में एडजस्टेड ग्रॉस रेवेन्यू (AGR) चुकाने के लिए कहा है मतलब सभी ऑपरेटरों को तीन महीने की समयावधि के भीतर Applicable amount जमा करना पड़ेगा। कोर्ट के इस फैसले के बाद इन बड़ी कंपनियों में आर्थिक परेशानी खड़ी हो गई है। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद सभी कम्पनियों ने राज्य सरकार से गुहार लगाई है कि वो उन्हें कुछ समय की मोहलत दे।

Source-google

मुकेश अंबानी ने दिया Telecom कंपनी को आईडिया

अरबपति मुकेश अंबानी(Mukesh Ambani) की रिलायंस जियो इन्फोकॉम लिमिटेड ने Rival telecom operators को वित्तीय राहत देने के लिए सरकार के किसी भी कदम का विरोध किया है। जियो फर्म ने कहा है कि Airtel तो बहुत ही आसानी से अपना बकाया चुका सकता है उसे सिर्फ अपनी सम्पति का कुछ हिस्सा या अपने कुछ शेयर को बेचना पड़ेगा। ऐसे ही Vodafone के पास भी कोई कमी नहीं है वो भी अपने कुछ शेयर बेच कर आराम से कर्जा चुका सकता है। Airtel अपने Indus टावर बिजनेस में 15-20 फीसदी नई Equity के जरिये सरकार को इस राशि का भुगतान कर सकता है। सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार Vodafone, Airtel, Idea को 49,990 करोड़ रुपये चुकाने है।

Source-google

Sunil Mittal ने लगाई गुहार

Airtel का टॉवर पूरे भारत में 1,63,000 से अधिक मोबाइल-फोन टॉवर संचालित करता है। सुनील मित्तल(Sunil Mittal) ने दूरसंचार मंत्री को एक पत्र लिख कर गुहार लगाई है। Mittal का कहना है कि इतनी जल्दी वो इतनी धनराशि जमा नहीं कर पाएंगे तो उनको थोड़ा वक़्त चाहिए वहीं Vodafone, Idea के साथ, अरबपति कुमार मंगलम बिड़ला ने भी चिठ्ठी लिख कर कहा है कि वो भी इतनी जल्दी बकाया राशि जमा नहीं क्र सकते है।  उन्हें भी वक़्त चाहिए लेकिन इस पर जियो ने चिठ्ठी लिख कर कहा है कि सभी कंपनियों के पास पैसे है तो उन्हें किसी भी तरह की कोई छूट न दी जाए। 

Source-google
5 November, 2019

About Author

Rachna