11 अक्टूबर को भारत दौरे पर आएंगे शी जिनपिंग
देश, ब्रेकिंग

11 अक्टूबर को भारत दौरे पर आएंगे शी जिनपिंग

हाल ही में भारतीय सेना ने अरुणाचल प्रदेश में एक युद्धाभ्यास किया था, जिससे चीन थोड़ा नाराज़ नज़र आया, जिसके चलते चीन ने जम्मू-कश्मीर सीमा पर भारतीय सेना द्वारा गश्त लगाने पर एतराज़ भी जताया… लेकिन इस मामले को बातचीत करके सुलझा लिया गया। ऐसे में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग(Chinese President Xi Jinping) भारत के दौरे पर आने वाले हैं।

source-google

विदेश मंत्रालय ने बुधवार को इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Chinese President Xi Jinping), भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से दूसरे अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के लिए आ रहा हैं। वे 11-12 अक्टूबर तक भारत का दौरा करेंगे, ये शिखर सम्मेलन चेन्नई के तटीय शहर मामल्लपुरम में आयोजित किया जाएगा। दोनों नेताओं ने 27-28 अप्रैल 2018 को चीन के वुहान में अपना पहला अनौपचारिक शिखर सम्मेलन किया था।

यह भी पढ़े: भारतीय शेयर बाजार में आया उछाल

source-google

द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दा

आगामी चेन्नई अनौपचारिक शिखर सम्मलेन में दोनों देशों के नेता आपस में द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक महत्व के मुद्दों पर चर्चा कर सकते हैं, साथ ही भारत-चीन विकास की साझेदारी को गहरा करने पर अपने विचारोंं को स्पष्ट कर सकते हैं। प्रधानमंत्री के निमंत्रण पर पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Chinese President Xi Jinping) 11-12 अक्टूबर 2019 को दूसरे अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के लिए भारत का दौरा करेंगे। इस शिखर सम्मेलन के दौरान दोनों देशों भारत-चीन क्लोजर डेवलपमेंट पार्टनरशिप पर भी चर्चा कर सकते हैं।

source-ani

राष्ट्रपति शी के भारत के कार्यक्रम

राष्ट्रपति शी के 11 अक्टूबर की दोपहर चेन्नई पहुंचने की संभावना है। मोदी और शी ममल्लापुरम के आसपास की विरासत संरचनाओं का दौरा करेंगे, जो पल्लव राजवंश द्वारा बनाए गए थे। नेता एक सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेंगे, जिसके बाद शोर मंदिर में रात का भोजन किया जाएगा। 12 अक्टूबर को पीएम मोदी और शी जिनपिंग के बीच दोपहर का भोजन निर्धारित है। चीनी राष्ट्रपति के 12 अक्टूबर की शाम को चेन्नई से बाहर जाने की उम्मीद है।चीन के विदेश मंत्रालय में उप मंत्री और भारत में पूर्व दूत लुओ झाओहुई ने चेन्नई शिखर सम्मेलन की तैयारियों पर चर्चा करने के लिए विदेश सचिव विजय गोखले से पिछले हफ्ते मुलाकात की थी।

source-google
9 October, 2019

About Author

Ashish Jain