टूर पर भेजने वालों ने खुद किया घाटी का दौरा, शेयर की वहां की शानदार तस्वीरें
देश, ब्रेकिंग

टूर पर भेजने वालों ने खुद किया घाटी का दौरा, शेयर की वहां की शानदार तस्वीरें

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 (Jammu-kashmir) (Article 370) हटने के बाद राज्य के हालात में तेजी से सुधार हो रहा है। केन्द्र सरकार के साथ साथ देश के विभिन्न राज्य सरकारों द्वारा भी घाटी के विकास के लिए काम किए जा रहे हैं। सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर के टूरिज्म (Jammu-kashmir Tourism) पर लगे प्रतिंबध को हटाए जाने के बाद महाराष्ट्र के टूर ऑपरेटरों (Maharastra Tour operator) ने श्रीनगर का दौरा किया। कल यानी कि मंगलवार को टूर ऑपरेटरों की एक टीम कश्मीर पहुंची। इस दौरान उन्होंने पर्यटन से जुड़े घाटी के कई क्षेत्रों का जायजा लिया। वहीं कश्मीर के पर्यटन निदेशक निसार अहमद वानी ने कहा कि हम कश्मीर में पर्यटन को पटरी पर लाने की कोशिश कर रहे हैं।

source-ani

Jammu-Kashmir में हालत समान्य

राज्य रोहित कंसल (Rohit Kansal) ने बताया कि जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में हालत बहुत तेज़ी से समान्य हो रहे है। वहां पर फ़ोन की सुविधा भी शुरू कर दी गयी है। बिना किसी रुकावट के अब पर्यटक जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में घूम सकेंगे। रोहित कंसल (Rohit Kansal) ने ये भी कहा कि ‘उद्योगपतियों को आतंकियों और अलगाववादियों से डरने की जरूरत नहीं है। सभी अपने रूटीन कामकाज शुरू करें। कहा, जम्मू-कश्मीर के संविधान पर बदलाव के फैसले को लेकर 4 अगस्त से राज्य में पाबंदियां लागू की गई थीं। इस कदम से लोगों के जान-माल की सुरक्षा का लक्ष्य था, जो पूरा हुआ है।’

source-google

कुछ दिन पहले तक बंद थे पर्यटक स्थल

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में लगभग 66 लाख मोबाइल ग्राहक हैं। जिनमें से लगभग 40 लाख ग्राहकों के पास पोस्ट-पेड सुविधाएं हैं। केंद्र द्वारा पर्यटकों के लिए घाटी खोलने की सलाह जारी करने के दो दिन बाद यह कदम मुश्किल से आता है। ट्रैवल एसोसिएशन निकायों ने प्रशासन से संपर्क किया था। जिसमें कहा गया था कि कोई भी पर्यटक घाटी के उस हिस्से में नहीं आना चाहेगा, जहाँ कोई भी मोबाइल (Mobile) फोन काम न करे। इससे पर्यटन पर भी काफी असर हुआ था।

source-google
16 October, 2019

About Author

Ashish Jain