कर्नाटक के सियासत में फिर से एक नया मोड़, येदियुरप्पा को विश्वास मत साबित करना ही होगा
ब्रेकिंग, राजनीति

कर्नाटक के सियासत में फिर से एक नया मोड़, येदियुरप्पा को विश्वास मत साबित करना ही होगा

नई दिल्ली: कर्नाटक में सियासी ड्रामा खत्म होने का नाम नहीं लो रहा है। फ्लोर टेस्ट में बहुमत नहीं मिलने के बाद कांग्रेस और जेडीएस की गठबंधन सरकार गिर गई थी। जिसके फलस्वरुप एच.डी.कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री पद छोड़ना पड़ा था। कर्नाटक की 224 विधानसभा सीटों में से कांग्रेस-जेडीएस की गठबंधन को 99 सीटें मीली थी। जबकि बीजेपी 105 सीटें निकालने में कामय़ाब रही थी। जिसके बाद कर्नाटक बीजेपी अध्यक्ष बी.एस.येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद का शपथ ले लिया है। जिसके बाद कल सुप्रीम कोर्ट ने बागी विधायको को अयोग्य साबित कर दिया। अब येदियुरप्पा के सामने फिर से मुश्किल चुनौती आ खड़ी हुई है। सोमवार को कर्नाटक विधानसभा में कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी.एस.येदियुरप्पा को विश्वास मत का सामना करना पड़ेगा। येदियुरप्पा कर्नाटक विधानसभा पहुंच गए है, अब देखने वाली बात होगी कि विश्वास मत का क्या परिणाम होगा।

source-ANI

बता दें कि कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की बैठक भी विधानसभा में शुरु हो गई है। सीएलपी नेता सिद्धारमैया, कर्नाटक कांग्रेस प्रदेश कमेटी के अध्यक्ष दिनेश गुंडु राव, के.जे. जार्ज, प्रियंका खड़गे, एम.बी.पाटिल, ईश्वर खंद्रे और अन्य कांग्रेस विधायक भी बैठक में शामिल होने पहुंच गए है।

source-ANI

29 July, 2019

About Author

[email protected]