श्राद्धों में भूलकर भी न करें ये काम, बर्ना हो सकता है बुरा अंजाम
ब्रेकिंग

श्राद्धों में भूलकर भी न करें ये काम, बर्ना हो सकता है बुरा अंजाम

हिंदू धर्म में श्राद्ध की बहुत मान्यताएं हैं। आज से श्रद्धा का आगमन हो चूका है। आज शनिवार को पहला श्राद्ध है। शास्त्रों के अनुसार हिंदू धर्म में श्राद्ध के समय पूर्वजों की अधूरी रह गयी इच्छाओं को पूरा किया जाता है। कहा जाता है कि श्राद्धों में पूर्वजों की आत्माएं धरती पर आती है। उसकी भटकती आत्माओं की शांति के लिए पूजा पाठ की जाती है। पूर्वजों की भटकती आत्माएं हमारे ऊपर अपना प्रभाव डालती हैं। ये प्रभाव अच्छे भी हो सकते हैं और काफी हद तक बुरे भी, इसलिए इन दिनों बहुत सी सावधानियां बरतनी पड़ती है।

source-google

ऐसे में सोच समझ कर हर कार्य करना चाहिए जिससे पूर्वजों की आत्माएं हम पर क्रोधित न हो या फिर ऐसी कोई अनहोनी न हो जिसे लेकर हमने बाद में पछताना पड़े। इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि श्राद्धों से जुडी कुछ महत्वपुर्ण बातें जिनसे नहीं हो पाएंगी आपसे आंजने में कोई भी गलती।

source-google

ध्यान रखें इन बातों का

  • शास्त्रों के अनुसार श्राद्धों के समय मसूर की दाल, धतूरा, अलसी और कुलथी का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • श्राद्धों के समय नशीले प्रदार्थो से दूर रहें और तामसिक भोजन न करें।
  • शास्त्रों के अनुसार श्राद्धों में शरीर पर तेल और साबुन का उपयोग नहीं करना चाहिए।
  • श्राद्धों में इत्र का प्रयोग करना वर्जित माना जाता है।
  • श्राद्धों में नए घर में ग्रह प्रवेश ना करें। इससे पितरों को तकलीफ होती है क्योंकि उनकी आत्माएं उसी घर में जाती है जहां उनकी मृत्यु हुई होती हैं।
  • शास्त्रों के अनुसार हिंदू धर्म में पितरों से जुड़ी इन बातों को अगर कोई नहीं मानता है तो घर में दुख, कलेश और बड़ी तकलीफ का सामना कर सकता है।
source-google
14 September, 2019

About Author

Ashish Jain